S M L

बिहार: छेड़छाड़ का विरोध करने पर लड़कियों की जमकर पिटाई, 34 बच्चियां घायल

सुपौल के त्रिवेणीगंज की बालिका कस्तूरबा आवासीय स्कूल में गांववाले लाठी लेकर घुस गए और लड़कियों की जमकर पिटाई की

Updated On: Oct 07, 2018 07:01 PM IST

FP Staff

0
बिहार: छेड़छाड़ का विरोध करने पर लड़कियों की जमकर पिटाई, 34 बच्चियां घायल

लड़कियों को छेड़ो और अगर वो विरोध करें तो उन्हें मारो. पढ़कर हैरानी हो रही होगी ना! लेकिन बिहार के लिए यह बिल्कुल सच है. बिहार के सुपौल में एक गर्ल्स स्कूल की छात्राओं ने छेड़छाड़ का विरोध किया तो गांववाले उल्टे उन्हें ही मारने चले आए. गुस्साए गांव वाले स्कूल में घुस आए और लड़कियों के साथ जमकर मारपीट की.

क्या है पूरा मामला?

यह घटना सुपौल के त्रिवेणीगंज की बालिका कस्तूरबा आवासीय विद्यालय डपरखा की है. स्कूल में 100 लड़कियां पढ़ती हैं. अभी तक मिली जानकारी के मुताबिक, मनचले स्कूल की दीवार पर अपशब्द लिखते थे और लड़कियों से छेड़छाड़ करते थे. लड़कों की इन हरकतों से छात्राएं काफी परेशान थीं. जब छात्राओं ने इसका विरोध किया तो मनचलों के अभिभावक स्कूल में घुस आए और छात्राओं की पिटाई कर दी.

इस हादसे में करीब 55 बच्चियां घायल हो गईं. इनमें से 34 बच्चियों का इलाज अनुमंडलीय अस्पताल, त्रिवेणीगंज में चल रहा है.

हॉस्टल वॉर्डन ने बताया कि स्कूल में जबरदस्ती घुसने वाली भीड़ में महिलाएं और बच्चे भी शामिल थे. भीड़ लाठी, ईंट, डंडा लेकर आई थी और बच्चियों को दौड़ा-दौड़ा कर पीटा. हादसे के बाद जिला प्रशासन के अधिकारी घटनास्थल पर गश्त कर रहे हैं. इस मामले में राजनीति भी शुरू हो गई है. जानकारी के मुताबिक एसडीओ गांव वालों के साथ मिलकर मामले को सुलझाने का प्रयास कर रहे हैं. अभी तक इस मामले में किसी की गिरफ्तारी नहीं हुई है.

वहीं त्रिवेनीगंज के एएसपी का कहना है कि इस मामले में कुछ महिलाओं को हिरासत में ले लिया गया है और उनसे पूछताछ भी की जा रही है. अगर वो इस मामले में शामिल हुईं तो उन्हें गिरफ्तार कर लिया जाएगा. चार पुलिस स्टेशन के एसएचओ को रेड करने के लिए कहा गया है.

 

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi