S M L

एमपीः कांग्रेस में भी हुई साधु-संतों की एंट्री, चुनावी मैदान में उतरने को तैयार हो रहे बाबा

दावेदार बाबाओं के जरिए बड़े नेताओं से खुद की सिफारिश करवा रहे हैं, कई दावेदार तो बाबाओं के साथ पार्टी मुख्यालय के चक्कर भी काट रहे हैं

Updated On: Oct 08, 2018 05:16 PM IST

FP Staff

0
एमपीः कांग्रेस में भी हुई साधु-संतों की एंट्री, चुनावी मैदान में उतरने को तैयार हो रहे बाबा

मध्य प्रदेश में चुनावों की तारीख का ऐलान होते ही राजनीतिक सरगर्मियां काफी तेज हो गई हैं. पार्टियों में अपने स्तर पर टिकट का जुगाड़ नहीं लगने पर दावेदार अब बाबाओं और साधु संतों का सहारा ले रहे हैं. दावेदार बाबाओं के जरिए बड़े नेताओं से खुद की सिफारिश करवा रहे हैं. कई दावेदार तो बाबाओं के साथ पार्टी मुख्यालय के चक्कर भी काट रहे हैं. दरअसल जबलपुर के बरगी से टिकट के लिए कांग्रेस की तरफ से दावेदारी कर रहे कृष्ण कुमार चौकसे जैसे नेता उन्हीं में से एक हैं, जो पार्टी मुख्यालय के चक्कर काट रहे हैं.

बाबा ने कृष्ण कुमार चौकसे की टिकट के लिए की सिफारिश

आपको बता दें कि कुछ दिनों पहले कृष्ण कुमार चौकसे महामंडेश्वर लक्ष्मणदास बालयोगी के साथ प्रदेश कांग्रेस कार्यालय पहुंचे थे. उन्होंने बाबा के साथ कांग्रेस संगठन के पदाधिकारी से मुलाकात की थी. बाबा ने कृष्ण कुमार चौकसे की टिकट के लिए सिफारिश भी की थी. इतना ही नहीं बाबा को आश्वासन भी मिला, साथ ही दावेदार कृष्ण कुमार चौकसे ने यहां तक कहा कि यदि उन्हें टिकट नहीं मिलता है, तो बरगी विधानसभा में कांग्रेस की हार तय है.

पार्टी सर्वे और हाईकमान ही टिकट तय करेंगे

हालांकि, इस मामले में कांग्रेस का कहना है कि बाबा या साधु संत कितना भी टिकट दिलाने का प्रयास करें, उससे कुछ होने वाला नहीं है. पार्टी सर्वे और हाईकमान ही टिकट तय करेंगे. टिकट के लिए किसी की भी सिफारिश नहीं चलेगी. वहीं दावेदारों के लिए सिफारिश करने के साथ बाबा और साधु संत भी सियासी मैदान में उतरने के लिए तैयार हैं. कई बाबाओं ने सियासी पार्टियों से टिकट की दावेदारी की है.

उज्जैन दक्षिण से महंत अवधेशपुरी टिकट की दावेदारी कर रहे हैं

आपको बता दें कि उज्जैन दक्षिण से महंत अवधेशपुरी भी टिकट की दावेदारी कर रहे हैं. वहीं केवलारी (सिवनी) से संत मदन मोहन खड़ेश्वरी ने टिकट मांगा है. विधानसभा टिकट के लिए कम्प्यूटर बाबा ने सियासत में कदम रखा है. सिलवानी से महेंद्र प्रताप गिरि ने टिकट की दावेदारी की है. वहीं उदयपुरा से रविनाथ महीवाले टिकट की मांग कर रहे हैं.

बीजेपी और कांग्रेस के उम्मीदवारों की सूची जारी होने वाली है

दूसरी ओर बीजेपी ने बाबाओं की सिफारिश पर कांग्रेस पर तंज कसा है. सरकार में राजस्व मंत्री उमाशंकर गुप्ता का कहना है कि कांग्रेस में सिफारिश की परंपरा रही है. हालांकि चुनाव में अब कुछ ही दिन बचे हैं. बीजेपी और कांग्रेस की जल्द ही उम्मीदवारों की सूची जारी होने वाली है. ऐसे में दावेदारों ने हर स्तर पर टिकट के लिए सिफारिश करना शुरू कर दिया है. इसीलिए टिकट के लिए हाहाकार मचा हुआ है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi