S M L

भीमा-कोरेगांव हिंसा मामला: SC के फैसले के बाद वरवरा राव ने कहा- मुझे न्यायप्रणाली पर पूरा भरोसा है

हैदराबाद स्थित अपने घर वापस पहुंचे तेलगू के जाने माने कवि वरवरा राव ने कहा, मैं शुरू से कह रहा था कि किसी झूठे मामले में मेरे खिलाफ केस दर्ज कर दिया गया था

Updated On: Aug 30, 2018 09:15 AM IST

FP Staff

0
भीमा-कोरेगांव हिंसा मामला: SC के फैसले के बाद वरवरा राव ने कहा- मुझे न्यायप्रणाली पर पूरा भरोसा है

भीमा-कोरेगांव हिंसा मामले में गिरफ्तार पांच मानवाधिकार कार्यकर्ताओं को 5 सितंबर तक घर में नजरबंद रखने के सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद कार्यकर्ताओं को उनके घर पहुंचा दिया गया. वो आगामी पांच सितंबर तक पुलिस की निगरानी में घरों में ही बंद रहेंगे.

 हैदराबाद पहुंचे वरवरा राव

ऐसे में सुप्रीम कोर्ट के आए फैसले के बाद हैदराबाद स्थित अपने घर वापस पहुंचे तेलगू के जाने माने कवि वरवरा राव ने कहा, 'मैं शुरू से कह रहा था कि किसी झूठे मामले में मेरे खिलाफ केस दर्ज कर दिया गया था. मुझे न्यायप्रणाली पर पूरा भरोसा है.'

बता दें कि महाराष्ट्र पुलिस ने मंगलवार को देशव्यापी कार्रवाई करते हुए हैदराबाद से तेलुगू कवि वरवरा राव के साथ वेरनान गोंसाल्विज और अरूण फरेरा को मुंबई से गिरफ्तार किया गया था. इसी तरह पुलिस ने ट्रेड यूनियन कार्यकर्ता सुधा भारद्वाज को हरियाणा के फरीदाबाद और सिविल लिबर्टी कार्यकर्ता गौतम नवलखा को पिछले साल 31 दिसंबर को आयोजित एल्गार परिषद कार्यक्रम के बाद पुणे के पास कोरेगांव-भीमा गांव में भड़की हिंसा के मामले में दर्ज प्राथमिकी के सिलसिले में नई दिल्ली से गिरफ्तार किया था.

असहमति लोकतंत्र का सेफ्टी वाल्व है 

इसके बाद सुप्रीम कोर्ट की की तीन सदस्यीय खंडपीठ ने भीमा-कोरेगांव घटना के करीब नौ महीने बाद इन व्यक्तियों को गिरफ्तार किए जाने पर महाराष्ट्र पुलिस से सवाल किए और कहा कि असहमति लोकतंत्र का सेफ्टी वाल्व है और यदि आप इन सेफ्टी वाल्व की इजाजत नहीं देंगे तो यह फट जाएगा.'

शीर्ष अदालत ने इसके साथ ही इन गिरफ्तारियों के खिलाफ इतिहासकार रोमिला थापर और अन्य की याचिका पर महाराष्ट्र सरकार और राज्य पुलिस को नोटिस जारी किए और सामाजिक कार्यकर्ता गौतम नवलखा, वरवरा राव, सुधा भारद्वाज, अरुण फरेरा और वरनोन गोंजालवेस की गिरफ्तारी पर अंतरिम रोक लगा दी है. कोर्ट ने पांचों वामपंथी विचारकों को 6 सितंबर तक हाउस अरेस्ट में रखने के आदेश दिए हैं. इस मामले में अगली सुनवाई 6 सितंबर को होगी.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Ganesh Chaturthi 2018: आपके कष्टों को मिटाने आ रहे हैं विघ्नहर्ता

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi