S M L

निजी कंपनियों को सौंपने से पहले हम से सीखें स्कूल, कॉलेज और जेल चलाना: केजरीवाल

नीति आयोग के अध्यक्ष ने बुधवार को कहा था कि सरकार को स्कूल, कॉलेज और जेलों के रखरखाव का काम निजी कंपनियों को सौंप देना चाहिए

Updated On: Jun 19, 2018 03:38 PM IST

FP Staff

0
निजी कंपनियों को सौंपने से पहले हम से सीखें स्कूल, कॉलेज और जेल चलाना: केजरीवाल

नीति आयोग के अध्यक्ष अमिताभ कांत के बयान पर पलटवार करते हुए दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने ट्वीट किया है. उन्होंने कहा कि स्कूल, कॉलेज और जेलों को किस तरह से चलाया जाता है यह दिल्ली सरकार से सीखें. दरअसल नीति आयोग के अध्यक्ष ने बुधवार को कहा था कि सरकार को स्कूल, कॉलेज और जेलों के रखरखाव का काम निजी कंपनियों को सौंप देना चाहिए.

फिक्की द्वारा आयोजित एक पीपीपी समिट में अमिताभ कांत ने कहा था कि सरकार ने कई बड़े-बड़े प्रोजेक्ट पर काम किया है. लेकिन वह सही तरीके से उनका रखरखाव नहीं कर सकी है. ऐसे में सरकार को बीओटी (बिल्ड, ऑपरेट, ट्रांसफर) की नीति अपनानी चाहिए. और ऐसे प्रॉजेक्ट निजी कंपनियों को बेच देना चाहिए.'

केजरीवाल ने कहा दिल्ली सरकार से सीखें

नीति आयोग अध्यक्ष द्वारा दिए गए इस बयान पर मंगलवार को दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने रिट्वीट किया. उन्होंने कहा, 'निजी कंपनियों को सौंपने की जगह दिल्ली सरकार के मॉडल से स्कूल, कॉलेज और जेल को सुचारू रूप से चलाने की सीख लेनी चाहिए. अगर कोई सरकार स्कूल, कॉलेज और जेल का रखरखाव नहीं कर सकती तो उसे इस्तीफा दे देना चाहिए.'

फिक्की द्वारा आयोजित समिट में अमिताभ कांत ने कहा था कि इंफ्रास्ट्रक्चर प्रॉजेक्ट का रखरखाव भी निजी कंपनियों को सौंप देना चाहिए. जिनमें हाई वे जैसे बड़े-बड़े प्रॉजेक्ट के रखरखाव को तो तत्काल निजी कंपनियों को सौंप देना चाहिए.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Ganesh Chaturthi 2018: आपके कष्टों को मिटाने आ रहे हैं विघ्नहर्ता

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi