S M L

बवाना हादसा: किसकी है फैक्ट्री- इसे लेकर राजनीति शुरू

आग इतनी भयानक थी कि फैक्‍ट्री से लोग बाहर निकल ही नहीं सके. जान बचाने के लिए कर्मचारी तीसरी मंजिल से कूद गए

Updated On: Jan 21, 2018 03:58 PM IST

FP Staff

0
बवाना हादसा: किसकी है फैक्ट्री- इसे लेकर राजनीति शुरू

दिल्ली के बवाना में शनिवार शाम पटाखा फैक्ट्री में लगी आग में 17 लोगों की मौत हो गई. मरने वालों में 10 महिलाएं और 7 पुरुष शामिल हैं. इस घटना में पुलिस ने मनोज जैन नाम के एक शख्स को गिरफ्तार किया है. जैन ने बताया कि उसने यह फैक्ट्री किराए पर ली थी और वो उसे अकेला चला रहा था.

रोहिनी के डीसीपी रजनीश गुप्ता ने गिरफ्तारी की जानकारी दी. शुरू में पुलिस ने बताया था कि ललित गोयल और मनोज जैन साझेदारी में यह पटाखा फैक्ट्री चला रहे थे. आईपीसी की धारा 304 के तहत गैर-इरादतन हत्या का मामला दर्ज कर लिया गया है. धारा 304 में अधिकांश 10 साल की सजा का प्रावधान है.

15 दिन पहले मिला था लाइलेंस

प्राप्त जानकारी के मुताबिक, 15 दिन पहले ही इस फैक्ट्री को लाइसेंस मिला था. लाइसेंस आवेदन में प्लास्टिक बॉल बनाने के लिए फैक्ट्री लगाने की बात कही गई थी. शुरुआती पूछताछ में यह पता चला है कि फैक्ट्री में स्टेज शो और होली के मौके पर इस्तेमाल गैर ज्वलनशील पटाखे बनाए जा रहे थे.

बवाना इंडस्ट्रियल एरिया में शनिवार शाम तीन फैक्ट्रियों में अचानक आग लग गई थी. घटना की सूचना मिलने पर फायर ब्रिगेड की 15 गाड़ियां मौके पर पहुंच गईं थीं. इस घटना में फैक्ट्री में मौजूद 17 लोगों की धुएं की वजह से दम घुटने से जान चली गई.

दिल्‍ली फायर सर्विसेज के निदेशक जीसी मिश्रा ने बताया कि बवाना में तीन जगहों पर आग लगने की सूचना मिली. सेक्‍टर -1 में प्‍लास्टिक फैक्‍ट्री, सेक्‍टर-5 में पटाखा फैक्‍ट्री और सेक्‍टर-3 में फर्नेश ऑइल स्‍टोरेज में. सेक्‍टर-5 में लगी आग में लोग मारे गए. आग पर अब पूरी तरह काबू पा लिया गया है. हमने अभी तक 17 शव बरामद किए हैं.

जान बचाने के लिए कूद गए कर्मचारी

आग इतनी भयानक थी कि फैक्‍ट्री से लोग बाहर निकल ही नहीं सके. जान बचाने के लिए कर्मचारी तीसरी मंजिल से कूद गए. दिल्‍ली दमकल विभाग के एक अधिकारी ने बताया कि आग सबसे पहले बेसमेंट में लगी. यहां से वह फैक्‍ट्री के अन्‍य हिस्‍सों में फैल गई. अधिकारियों के अनुसार, आग और दम घुटने की वजह से लोगों की जान गई. दूसरी आग प्लास्टिक फैक्ट्री में लगी. इसमें जान-माल का कोई नुकसान नहीं हुआ. आग के कारणों का अभी पता नहीं चला है. जांच के आदेश

दिल्‍ली सरकार ने बवाना घटना की जांच के आदेश दिए हैं. शनिवार रात घटनास्थल का दौरा करने पहुंचे मुख्‍यमंत्री अरविंद केजरीवाल को गुस्साए लोगों का विरोध झेलना पड़ा. केजरीवाल ने बवाना हादसे में मारे गए लोगों के लिए 5-5 लाख रुपए का मुआवजा और घायलों को 1 लाख रुपए की आर्थिक मदद का ऐलान किया है.

Arvind Kejriwal

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने घटनास्थल पहुंचकर फैक्ट्री का दौरा किया (फोटो: पीटीआई)

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी आग हादसे पर गहरा दुख जताया है.

फैक्ट्री किसकी है- इसे लेकर उलझे नेता

इस घटना से संबंधित एक वीडियो वायरल हो रहा है जिसमें बीजेपी नेता और नॉर्थ दिल्ली नगर निगम की मेयर कैमरे पर यह कहते हुए सुनी जा सकती हैं कि 'इस फैक्ट्री की लाइसेंसिंग हमारे पास है इसलिए हम कुछ नहीं बोल सकते.'

बीजेपी ने किया पलटवार

प्रीति अग्रवाल का यह वीडियो जारी होने के बाद इसपर राजनीति शुरू हो गई है. मुख्यमंत्री केजरीवाल ने इस वीडियो को रीट्वीट किया है.

इसपर सफाई देते हुए दिल्ली बीजेपी अध्यक्ष मनोज तिवारी ने कहा, प्रीति अग्रवाल सिर्फ यह कह रही हैं कि यह किसकी फैक्ट्री है, यह बहुत दुखद घटना है. उनकी बातों में सिर्फ 'ये फैक्ट्री' ही स्पष्ट है. लोग दुख की इस घड़ी में बीजेपी को बदनाम करने के लिए फेक वीडियो वायरल कर रहे हैं. मुख्यमंत्री ने रीट्वीट भी किया है. संकट में ऐसी ओछी राजनीति करने के लिए मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को माफी मांगनी चाहिए.

आपस में भिड़े बीजेपी-आप कार्यकर्ता

मनोज तिवारी के घटनास्थल पर पहुंचने के कुछ देर बाद सीएम केजरीवाल भी वहां पर पहुंचे गए थे. इस दौरान बीजेपी समर्थकों ने केजरीवाल के खिलाफ नारेबाजी शुरू कर दी. ऐसे में आप समर्थक भी उनसे भिड़ गए. दोनो पार्टियों के कार्यकर्ताओं के बीच हाथापाई भी हुई. इसके बाद बीजेपी समर्थक केजरीवाल की गाड़ी के आगे लेट गए, जिससे सीएम का काफिला फंस गया. हालांकि, पुलिस ने किसी तरह स्थिति को संभाला.

कांग्रेस ने की जांच की मांग

इस मामले पर कांग्रेस नेता अजय माकन ने न्यायिक जांच की मांग की है. उन्होनें कहा कि 'हम लोग चाहते हैं कि हादसे की न्यायिक जांच होनी चाहिए. अगर सरकार ही जांच करेगी, तो सच्चाई सामने नहीं आ पाएगी.'

उधर प्रीती अग्रवाल के बयान पर उन्होंने निशाना साधते हुए कहा कि 'मेयर ने बहुत ही गैरजिमेदार बयान दिया है. उन के खिलाफ बीजेपी को खुद कार्रवाई करे.'

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Ganesh Chaturthi 2018: आपके कष्टों को मिटाने आ रहे हैं विघ्नहर्ता

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi