S M L

बरेली: मां-बेटी ने भूख की वजह से की सुसाइड, डीएम बोले- राशन मिल तो रहा था

राजवती ने पहले अपने बेटी को जहर दिया और बाद में खुद भी खा लिया. इस वारदात में राजवती की मौके पर ही मौत हो गई.

Bhasha Updated On: Jul 06, 2018 03:52 PM IST

0
बरेली: मां-बेटी ने भूख की वजह से की सुसाइड, डीएम बोले- राशन मिल तो रहा था

बरेली जिले के विशारतगंज क्षेत्र में कथित रूप से गरीबी और फ़ाक़ाकशी से जूझ रही एक महिला ने अपनी बेटी को जहर खिलाने के बाद खुद भी खा लिया. इस वारदात में दोनों की मौत हो गयी.

पुलिस सूत्रों ने आज यहां बताया कि आंवला तहसील क्षेत्र के अतरछेड़ी गांव में राजवती (60) अपनी बेटी रानी (25) के साथ रहती थीं. राजवती का पति उदयभान और बेटा गांव छोड़कर बाहर चले गये थे. इस वजह से राजवती आर्थिक तंगी से गुजर रही थी.

राजवती की दूसरी बेटी रेखा का कहना है कि राजवती ने कल पहले अपने बेटी को जहर दिया और बाद में खुद भी खा लिया. इस वारदात में राजवती की मौके पर ही मौत हो गई.उन्होंने बताया कि रानी को गम्भीर हालत में बरेली के अस्पताल ले जाया गया, जहां इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई.

नहीं मिल रही थी सरकारी मदद, राशन कार्ड कर दिया गया था निरस्त 

सूत्रों ने बताया कि रेखा ने पुलिस को दी तहरीर में बताया है कि आर्थिक तंगी में उसकी मां ने घातक कदम उठाया है. ग्रामीण उसकी मां की मदद करते थे, लेकिन इन दिनों उनके सामने खाने के लाले पड़ गये थे.

गांव के निवासी अधिवक्ता अतुल कुमार सिंह ने बताया कि उनका गरीबी रेखा के नीचे गुजर-बसर करने वाले परिवारों को मिलने वाला राशनकार्ड बना हुआ था, जिसे निरस्त कर दिया गया था. इसके लिए उन्होंने स्वयं ऑनलाइन आवेदन करा दिया था. अभी उन्हें सरकारी राशन आदि नहीं मिल पा रहा था.

इस बीच, बरेली के जिलाधिकारी वीरेंद्र कुमार सिंह ने बताया कि महिला और उसकी बेटी की मौत भूख से नहीं हुई है. आधार कार्ड ना होने के कारण उनका राशन कार्ड निरस्त हो गया था मगर उसे नियमित रूप से राशन मिल रहा था.

इस सवाल पर कि जब राशन कार्ड निरस्त हो गया था, तो उन्हें राशन कहां से मिल रहा था, जिलाधिकारी ने कोई जवाब देने से इनकार कर दिया.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
SACRED GAMES: Anurag Kashyap और Nawazuddin Siddiqui से खास बातचीत

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi