S M L

बीएचयू में छात्राओं पर बरसाई गई लाठियां, दो अक्तूबर तक विश्वविद्यालय बंद

लाठीचार्ज के बाद गुस्साए छात्रों ने पुलिस पर पत्थरबाजी शुरू कर दी और कई वाहन भी जला दिए

Updated On: Sep 24, 2017 10:25 AM IST

FP Staff

0
बीएचयू में छात्राओं पर बरसाई गई लाठियां, दो अक्तूबर तक विश्वविद्यालय बंद

बीएचयू में छात्राओं पर लाठीचार्ज किया गया है. वह शुक्रवार से छेड़छाड़ के खिलाफ कार्रवाई की मांग को लेकर धरना पर बैठी थी. छात्राओं पर शनिवार देर रात को पुलिस ने लाठीचार्ज किया. इसके बाद कैंपस में हालात और बिगड़ गए हैं. लाठीचार्ज में कई छात्राओं को चोटें आई हैं.

लाठीचार्ज के बाद गुस्साए छात्रों ने पुलिस पर पत्थरबाजी शुरू कर दी और कई वाहन भी जला दिए. छात्रों को तितर-बितर करने के लिए पुलिस ने हवाई फायरिंग भी की. लाठीचार्ज और भगदड़ में तीन :छात्र घायल हो गए. हंगामे को देखते हुए बीएचयू प्रशासन ने 2 अक्टूबर तक यूनिवर्सिटी को बंद रखने का फैसला किया है.

बीएचयू कैंपस में छात्र छेड़खानी के विरोध में शुक्रवार से प्रदर्शन कर रहे हैं. प्रदर्शन के दूसरे दिन माहौल तब बिगड़ गया जब छात्र कुलपति से मिलने उनके आवास पहुंचे और वहां घेराव करने लगे.

varanasi

क्रेडिट-Insight Facts - BHU

वीसी हाउस की सुरक्षा में लगे सुरक्षाकर्मियों ने छात्रों को वहां से हटाने के लिए लाठीचार्ज कर दिया. इस लाठीचार्ज में तीन छात्र घायल हो गए. नाराज छात्रों ने कैंपस में तोड़फोड़ शुरू कर दी.

अधिकारी पहुंचे

देर रात बीएचयू कैंपस में जैसे ही बवाल शुरू हुआ पुलिस के आला अधिकारी कैंपस पहुंच गए. प्रभारी आईजी प्रेम प्रकाश और कमिश्नर नितिन रमेश गोकर्ण भी बीएचयू परिसर पहुंचे थे. कुलपति ने विश्वविद्यालय प्रशासन के साथ अल-सुबह मीटिंग भी की है. इस मामले में विश्वविद्यालय के चीफ प्रॉक्टर ओ. एन. सिंह ने कहा कि छात्राओं को समझाने की कोशिश की जा रही है. दोषी लड़कों पर कार्रवाई की जाएगी.

क्या है मामला

गुरुवार रात बीएचयू कैम्पस स्थित भारत कला भवन के पास आर्ट्स फैकल्टी की छात्रा के साथ यूनिवर्सिटी के ही तीन छात्रों ने छेड़खानी की. छात्रा ने शोर मचाया लेकिन घटनास्थल से कुछ ही दूरी पर मौजूद सुरक्षा कर्मी भी उसकी मदद के लिए नहीं आए. छात्रा ने इस घटना की शिकायत हॉस्टल की वॉर्डन और यूनिवर्सिटी के चीफ प्रॉक्टर से भी की लेकिन कोई कार्रवाई नहीं की गई. इसके बाद शुक्रवार को छात्र धरने पर बैठ गए. छात्राओं का आरोप है कि वे शिकायत के लिए गए तो उनसे कहा गया कि 'पीएम आने वाले हैं अभी आप लोग शांत रहें.'

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi