S M L

बिना डॉक्टरों के रामभरोसे चल रहे हैं सरकारी हेल्थ सेंटर

1,974 यानि 8 प्रतिशत प्राइमरी हेल्थ सेंटर बिना किसी डॉक्टर के चल रहे हैं

FP Staff Updated On: Apr 03, 2018 02:09 PM IST

0
बिना डॉक्टरों के रामभरोसे चल रहे हैं सरकारी हेल्थ सेंटर

देश में सरकारी स्वास्थ्य सुविधाएं इस वक्त राम भरोसे चल रही हैं. देश में 60 फीसदी  प्राइमरी हेल्थ सेंटर ऐसे हैं जो केवल एक डॉक्टर के ऊपर निर्भर है. केंद्रीय स्वास्थ्य राज्य मंत्री अनुप्रिया पटेल ने एक सवाल के जवाब में राज्यसभा में इसकी लिखित जानकारी दी है. जानकारी के मुताबिक देश के 25,650 प्राइमरी हेल्थ सेंटर में 15,700 हेल्थ सेंटर ऐसे हैं जिन पर सिर्फ एक डॉक्टर तैनात है जब कि 1,974 यानि 8 प्रतिशत प्राइमरी हेल्थ सेंटर बिना किसी डॉक्टर के चल रहे हैं.

18% प्राइमरी हेल्थ सेंटर पर नहीं है फ़ार्मासिस्ट

जानकारी के मुताबिक 9,183 यानि 35% पीएचसी बिना किसी लैब टेक्नीशियन के चल रहे हैं. वहीं 4,744 पीएचसी यानि 18 प्रतिशत प्राइमरी हेल्थ सेंटर पर फार्मासिस्ट नहीं हैं.

क्या कहती है इपीएचएस की गाइडलाइन

इंडियन पब्लिक हेल्थ स्टैंडर्स (इपीएचएस) की गाइडलाइन के मुताबिक एक प्राइमरी हेल्थ सेंटर पर कम से कम दो डॉक्टर होने चाहिए इसके अलावा तीन नर्स, एक फॉर्मासिस्ट और एक लैब टेक्नीशियन की तैनाती जरूर होनी चाहिए. लेकिन अधिकतर अस्पतालों में इन नियमों की धज्जियां उड़ाई जा रही हैं, सबसे खराब हालात गुजरात के हैं जहां 100 प्रतिशत यानि सभी 1,392 प्राइमरी हेल्थ सेंटर सिर्फ एक डॉक्टर के भरोसे चल रहे हैं.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
सदियों में एक बार ही होता है कोई ‘अटल’ सा...

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi