S M L

आध्यात्मिक विश्वविद्यालय मामले में सीबीआई ने दिल्ली पुलिस से जानकारी मांगी

सीबीआई ने दिल्ली के विजय विहार इलाके में आध्यात्मिक विश्वविद्यलय में यौन शोषण मामले में दिल्ली पुलिस से सारी जानकारी मांग ली है

Ravishankar Singh Ravishankar Singh Updated On: Dec 25, 2017 07:14 PM IST

0
आध्यात्मिक विश्वविद्यालय मामले में सीबीआई ने दिल्ली पुलिस से जानकारी मांगी

सीबीआई ने दिल्ली के विजय विहार इलाके में आध्यात्मिक विश्वविद्यालय में यौन शोषण मामले में दिल्ली पुलिस से सारी जानकारी मांग ली है. दिल्ली पुलिस जल्द ही इस केस से संबंधित सारी जानकारी अब सीबीआई को सौंप देगी. सारे कागजात देते ही सीबीआई जांच शुरू कर देगी.

कुछ दिन पहले ही दिल्ली के विजय विहार इलाके के एक अध्यात्मिक विश्वविद्यालय में यौन शोषण की शिकायत पर हाईकोर्ट ने संज्ञान लिया था. दिल्ली हाईकोर्ट ने ही सबसे पहले दिल्ली पुलिस को आश्रम में छापा मारने को कहा था. बाद में मामला बड़ा होते देख दिल्ली हाईकोर्ट ने यह मामला सीबीआई को सौंप दिया था.

दिल्ली हाईकोर्ट के निर्देश के बाद से ही पिछले कई दिनों से आश्रम के कई ठिकानों पर छापेमारी चल रही है. दिल्ली पुलिस, महिला आयोग और दिल्ली कमिशन फॉर प्रोटेक्शन चाइल्ड राइट्स (डीसीपीसीआर) की कई टीमें इस अध्यात्मिक विश्वविद्यालय के कई ठिकानों पर छापेमारी कर रही है.

सरकार का सख्त रवैया

दिल्ली हाईकोर्ट ने पिछले सप्ताह ही आश्रम के संचालक वीरेंद्र देव दीक्षित को लेकर कड़ा रुख अख्तियार किया था. हाईकोर्ट ने सीबीआई को आदेश दिया था कि 4 जनवरी तक ढोंगी बाबा को हर हाल में कोर्ट के सामने पेश करे. साथ ही हाईकोर्ट ने वीरेंद्र देव के आठ और आश्रमों की लिस्ट भी मांगी थी.

सिर्फ दिल्ली के विजय विहार आश्रम में ही लगभग 50 नाबालिग लड़कियां सहित लगभग 200 महिलाओं को अभी तक छुड़ाया जा चुका है. हैरानी की बात यह है कि देश की राजधानी में यह खेल वर्षों से चल रहा था. और पुलिस को इस बात की भनक नहीं लगी? इस ढोंगी बाबा के कारनामे सामने आने के बाद एक बार फिर यह चर्चा शुरू हो गई है कि यह बाबा ना जाने कितने लड़कियों की जिंदगियां बर्बाद कर दी होगी?

इस छापेमारी के दौरान दिल्ली पुलिस, दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल और डॉक्टरों की एक टीम मौजूद थी. बाबा के कई आश्रमों में अभी भी छापेमारी जारी है और कई ताले तोड़े जा चुके हैं. कई संदिग्ध सामान भी आश्रम से बरामद हुए हैं. छापेमारी में नशीली दवाइयां और कई आपत्तिजनक चीजें बरामद हुई हैं.

क्या है बाबा दीक्षित की कहानी? 

21 दिसंबर की छापेमारी में 41 लड़कियों सहित 168 महिलाओं को बचाया गया था. 41 लड़कियों का जहां दिल्ली के अलग-अलग बाल सुधार गृह में भेजा गया है. वहीं महिलाओं को भी दिल्ली के विभिन्न सुधार गृह भेजा गया है.

आश्रम के कई ठिकानों पर लगातार छापेमारी चल रही है. सोमवार को दिल्ली के करावल नगर, नवादा और नांगलोई आश्रम में महिला आयोग और दिल्ली पुलिस की छापेमारी चल रही थी. एक सप्ताह बीत जाने के बाद भी आश्रम के संचालक वीरेंद्र देव दीक्षित का कोई अता-पता नहीं है. बाबा की हरकतें सामने आने के बाद अब उसके अपने भी एक-एक कर के उसका साथ छोड़ रहे हैं.

हाईकोर्ट में याचिका दायर करने वाली एनजीओ की संचालिका सीमा शर्मा के मुताबिक बाबा खुद को शिव बताता था. आश्रम में रह रही लड़कियों को बाबा कहा करता था कि तुम अगर मुझसे संबंध बनाओगी तो पार्वती बन जाओगी. बाबा की काली करतूत में उसकी पत्नी भी उसका साथ देती थी.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
सदियों में एक बार ही होता है कोई ‘अटल’ सा...

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi