S M L

राम मंदिर निर्माण के लिए बाबा रामदेव ने बताए दो रास्ते

रामदेव ने मंदिर निर्माण को लेकर दो रास्ते बताए हैं. उन्होंने कहा है कि पहला रास्ता तो यह है कि लोग खुद मंदिर का निर्माण शुरू कर दें या फिर अध्यादेश लेकर आए

Updated On: Dec 02, 2018 09:16 PM IST

FP Staff

0
राम मंदिर निर्माण के लिए बाबा रामदेव ने बताए दो रास्ते

योग गुरु बाबा रामदेव ने कुछ दिनों पूर्व ही यह बयान दिया था कि अगर बीजेपी ने राम मंदिर नहीं बनवाया तो चुनाव में उसे हार का स्वाद चखना पड़ सकता है. इसके बाद आज यानी रविवार को रामदेव ने अयोध्या राम मंदिर को लेकर फिर से बयान जारी किया है.

रामदेव ने मंदिर निर्माण को लेकर दो रास्ते बताए हैं. उन्होंने कहा है कि पहला रास्ता तो यह है कि लोग खुद मंदिर का निर्माण शुरू कर दें, जो अच्छा नहीं होगा. इससे सामाजिक संघर्ष हो सकता है. तो दूसरा तरीका यह हो सकता है कि मंदिर निर्माण के लिए संसद में अध्यादेश लाना चाहिए. यह सांप्रदायिक सद्भावना के लिए अच्छा होगा और भगवान राम की ओर हमारा सच्चा आभार भी होगा.

केवल एक विकल्प- अध्यादेश

कुछ दिनों पूर्व ही उन्होंने कहा था कि बीजेपी केंद्र और राज्य में सत्ता में है, अगर अब राम मंदिर का निर्माण नहीं हुआ तो लोग बीजेपी पर अपना विश्वास खो देंगे जोकि बीजेपी और देश के लिए हित में नहीं होगा. कार सेवक मंदिर का निर्माण शुरू नहीं कर सकते क्योंकि यह कोर्ट की अवमानना होगी. अध्यादेश केवल एक विकल्प है.

इधर रविवार को राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस), विश्व हिंदू परिषद (वीएचपी), शिवसेना और कई अन्य संगठनों के नेतृत्व में अयोध्या में धर्म सभा का आयोजन किया गया था. इस सभा में सरकार पर मंदिर बनाने का दबाव बनाने की कोशिश की गई.

वहीं राम मंदिर निर्माण को लेकर शिवसेना भी सरकार पर दबाव बना रही है. उद्धव ठाकरे का राम मंदिर निर्माण को लेकर कहना है कि सरकार कुछ भी करे, कानून बनाए या अध्यादेश लाए, राम मंदिर का निर्माण होना चाहिए. उन्होंने कहा कि अगर केंद्र सरकार मंदिर नहीं बना सकती है तो कह दे कि यह भी एक चुनावी जुमला था.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi