S M L

आयुष्मान योजना: हेल्थ वेलनेस सेंटर की शुरुआत, मोदी केयर के बारे में जानें सबकुछ

मोदी सरकार ने इस वित्त वर्ष में 18,840 हेल्थ सब सेंटर को वेलनेस सेंटर में बदलने के लिए अलग से 1200 करोड़ रुपए के बजट का प्रावधान रखा है

FP Staff Updated On: Apr 14, 2018 04:46 PM IST

0
आयुष्मान योजना: हेल्थ वेलनेस सेंटर की शुरुआत, मोदी केयर के बारे में जानें सबकुछ

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने छत्तीसगढ़ के बीजापुर में आयुष्मान भारत योजना के तहत देश के पहले हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर की शुरुआत की है. आपको बता दें कि इस वित्त वर्ष में 18 हजार 840 हेल्थ सब सेंटर को वेलनेस सेंटर में बदला जाना है. इसके लिए केंद्र सरकार ने अलग से 1200 करोड़ रुपए के बजट का प्रावधान किया है.

वर्ष 2017-18 के बजट में डेढ़ लाख हेल्थ सब सेंटर को हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर में बदलने की घोषणा हुई थी, पर बजट का प्रावधान नहीं किया गया था. वर्ष 2018-19 के बजट में इस योजना के लिए बजट का प्रावधान किया गया है. इससे इन्हें शुरू करने में आसानी होगी.

आयुष्मान भारत योजना की प्रमुख बातें

- इस योजना के तहत बीपीएल परिवारों का बीमा किया जाएगा और उन्हें अस्पतालों में कैशलेस इलाज उपलब्ध कराया जाएगा.

- गरीब परिवारों के लोग इस योजना के तहत 5 लाख रुपए तक का इलाज मुफ्त करा सकेंगे.

- इस योजना के तहत सरकारी अस्पतालों में भर्ती होना जरूरी नहीं है. मरीज को चुनिंदा निजी अस्पतालों में भी इलाज के लिए भर्ती कराया जा सकता है.

- केंद्र सरकार ने आयुष्मान भारत योजना के लिए बजट में 2 हजार करोड़ रुपए की राशि आवंटित की है.

- बीपीएल परिवारों के लिए राष्ट्रीय स्वास्थ्य बीमा योजना के जगह इस योजना को शुरू किया जा रहा है.

- पहले इस योजना में सिर्फ 30 हजार रुपए तक का बीमा कवर दिया जाता था.

क्या है हेल्थ वेलनेस सेंटर?

बजट में आयुष्मान भारत की घोषणा की गई है. इसके दो कंपोनेंट हैं. पहला, 10.74 लाख परिवारों को मुफ्त 5 लाख रुपए का स्वास्थ्य बीमा. दूसरा, हेल्थ वेलनेस सेंटर. इसमें देश भर के प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र अपडेट होंगे. इन सेंटर में इलाज होगा और मुफ्त दवाइयां मिलेंगी.

बीमारियों का होगा इलाज

हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर में 12 तरह की स्वास्थ्य सुविधा होगी. यहां इलाज के साथ-साथ जांच की भी सुविधा होगी. यही नहीं जिला अस्पताल में मरीज को जो दवा लिखी जाएगी. वह दवा मरीज को अपने घर के पास के हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर में उपलब्ध हो, इस पर भी काम चल रहा है.

कौन सी बीमारियां होंगी कवर

- मैटरनल हेल्थ और डिलीवरी की सुविधा, नवजात और बच्चों के स्वास्थ्य, किशोर स्वास्थ्य सुविधा, कॉन्ट्रासेप्टिव सुविधा और संक्रामक, गैर संक्रामक रोगों के प्रबंधन की सुविधा, आंख, नाक, कान और गले से संबंधित बीमारी के इलाज के लिए अलग से यूनिट होगी. इसके अलावा बुजुर्गों के इलाज की सुविधा भी होगी.

राज्यों में कितने वेलनेस सेंटर बनेंगे

- छत्तीसगढ़: 1000

- गुजरात: 1185

- राजस्थान: 505

- झारखंड: 646

- मध्य प्रदेश: 700

- महाराष्ट्र: 1450

- पंजाब: 800

- बिहार: 643

- हरियाणा: 255

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
सदियों में एक बार ही होता है कोई ‘अटल’ सा...

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi