S M L

अयोध्या में मंदिर निर्माण के लिए राम भक्तों ने बनाया 'जय श्रीराम' कॉलर ट्यून

राम मंदिर बनाने का संदेश जनता तक प्रभावशाली ढंग से पहुंचाने के उद्देश्य से राम भक्तों ने 'जय श्रीराम' को अपने मोबाइल की कॉलर ट्यून बनाया है. उन्होंने ज्यादा से ज्यादा संख्या में इसे डाउनलोड करने की भी अपील की है

Updated On: Nov 25, 2018 12:14 PM IST

FP Staff

0
अयोध्या में मंदिर निर्माण के लिए राम भक्तों ने बनाया 'जय श्रीराम' कॉलर ट्यून

अयोध्या में राम मंदिर बानाने को लेकर कोशिशें तेज हो गई हैं. राम मंदिर बनाने का संदेश जनता तक प्रभावशाली ढंग से पहुंचाने के उद्देश्य से राम भक्त हर संभव कोशिश करते हुए नजर आ रहे हैं. इसी कोशिश के तहत राम भक्तों ने 'जय श्रीराम' को मोबाइल की कॉलर ट्यून बनाया है और इसे डाउनलोड करने की अपील की है.

दो दिन में 10 हजार लोगों ने किया डाउनलोड

भारतीय जनता युवा मोर्चा के राष्ट्रीय महासचिव अभिजीत मिश्र ने बताया कि कॉलर ट्यून 'जय जय श्रीराम' बनाई गई है और जनता से इसे डाउनलोड करने की अपील की गई है. दो दिन में ही दस हजार से अधिक लोगों ने इस ट्यून को डाउनलोड किया है.

मिश्र ने कहा कि राम से बड़ा राम का नाम है. जब भगवान राम का नाम लिखने भर से भारी भरकम पत्थर पानी में तैरने लगते हैं तो 'मुझे यकीन है कि जय श्रीराम की धुन कॉलर ट्यून के जरिए सुनने वाले का भक्ति भाव जाग्रत अवश्य होगा और इससे अयोध्या में भव्य राम मंदिर निर्माण का रास्ता भी तैयार होगा.'

भगवान राम को समरसता का प्रतीक बताते हुए उन्होंने कहा कि राम ने जाति बंधन तोडे़ और हर वर्ग के लोगों को अपने साथ जोड़ा.

बाबर समर्थकों को निशाने पर लेते हुए मिश्र ने कहा कि बाबर आक्रमणकारी था और इसका जिक्र इतिहास की पुस्तकों में स्पष्ट रूप से है. अगर कोई बाबर की तुलना भगवान राम से करता है तो निश्चित तौर पर यह मानसिक दासता है.

Ram Mandir Model Replica

अयोध्या में प्रस्तावित राम मंदिर का मॉडल (फोटो: रॉयटर्स)

राम मंदिर निर्माण को लेकर वीएचपी की धर्म सभा आज

इस बीच राम मंदिर निर्माण को लकेर वीएचपी भी आयोध्या में  रविवार को धर्म सभा कर रही है. यह धर्म सभा सुबह 11 बजे से शुरू हुई है और दोपहर बाद 4 बजे तक चलेगी.

अनुमान लगाया जा रहा है कि वीएचपी के आह्वान पर इस 'धर्म सभा' में शामिल होने 2 लाख रामभक्त अयोध्या पहुंचेंगे. वीएचपी ने पहले ही साफ कर दिया है कि राम मंदिर निर्माण को लेकर ये उनकी आखिरी धर्म सभा है. आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत भी वीएचपी की धर्म सभा को अपना समर्थन देने की बात कर चुके हैं. आरएसएस सूत्रों का कहना है कि संघ के कई प्रांत प्रचारकों को इस कार्यक्रम को सफल बनाने का जिम्मा दिया गया है.

(भाषा से इनपुट)

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi