S M L

अयोध्या के DM बोले- स्थानीय लोगों के संपर्क में है प्रशासन, नहीं है भय का माहौल

अनिल कुमार ने कहा, शिवसेना और वीएचपी ने यह सुनिश्चित किया है कि कार्यक्रम केवल उन शर्तों पर आयोजित किए जाएंगे जो उन्हें दी गई थीं

Updated On: Nov 23, 2018 09:15 PM IST

FP Staff

0
अयोध्या के DM बोले- स्थानीय लोगों के संपर्क में है प्रशासन, नहीं है भय का माहौल

अयोध्या के माहौल पर डीएम अनिल कुमार का बयान आया है. उन्होंने कहा, 'हम स्थानीय लोगों से संपर्क बनाए हुए हैं. यहां किसी तरह भय का माहौल नहीं है. शिवसेना और वीएचपी अपने तय कार्यक्रम के लिए अनुमति प्राप्त कर चुकी हैं.'

अनिल कुमार ने कहा, 'शिवसेना और वीएचपी ने यह सुनिश्चित किया है कि कार्यक्रम केवल उन शर्तों पर आयोजित किए जाएंगे जो उन्हें दी गई थीं.' डीएम का यह बयान ऐेसे वक्त में आया है जब हालही में अयोध्या को लेकर कुछ विवादित बयान सामने आए हैं.

विश्व हिंदू परिषद की ओर से 25 नवंबर को धर्म सभा के आयोजन से पहले बीजेपी विधायक सुरेंद्र सिंह ने गुरुवार को कहा था कि जरूरत पड़ने पर उस दिन संविधान ताक पर रखकर 1992 का इतिहास दोहराया जाएगा.

सिंह ने कहा था, '25 नवंबर 2018 को अयोध्या में जरूरत पड़ी तो 1992 का इतिहास दोहराया जाएगा. जिस तरह 1992 में संविधान को ताक पर रखकर बाबरी मस्जिद ढहाई गई थी, जरूरत पड़ी तो संविधान को ताक पर रखकर राम मंदिर बनाया जाएगा.'

शिवसेना नेता संजय राउत ने भी मंदिर को लेकर एक बयान दिया है, जिस पर विवाद हो सकता है. उन्होंने कहा है कि 1992 में प्रदर्शनकारियों ने 17 मिनट में बाबरी मस्जिद का विध्वंस कर दिया था, तो कानून बनने में कितना वक्त लगता है.

गौरतलब है कि शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे भी मंदिर निर्माण की मांग को लेकर 25 नवंबर को अयोध्या का दौरा करेंगे. इस दौरान वे कई संतों से मुलाकात करेंगे और कई कार्यक्रमों में हिस्सा लेंगे.

हालांकि यूपी पुलिस ने जानकारी दी है कि अयोध्या के माहौल को देखते हुए एक एडीजीपी, एक डीआईजी, 3 एसएसपी, 10 एसएसपी, 21 डीएसएसपीएस, 160 इंस्पेक्टर, 700 कॉन्सटेबल, 42 कंपनी पीएसी, 5 कंपनी आरएएफ, एटीएस कमांडो और ड्रोन कैमरे की तैनाती की गई है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi