विधानसभा चुनाव | गुजरात | हिमाचल प्रदेश
S M L

अयोध्या विवादः अकेले पड़े कपिल सिब्बल, वक्फ बोर्ड ने भी उनकी दलील से किया किनारा

बाबरी मस्जिद के पक्षकार हाजी महबूब ने कहा, हां कपिल सिब्बल हमारे वकील हैं लेकिन वो एक राजनीतिक पार्टी से भी जुड़े हुए हैं, मंगलवार को सुप्रीम कोर्ट में उनका बयान गलत था, हम इस मामले में जल्द से जल्द समाधान चाहते हैं

FP Staff Updated On: Dec 06, 2017 03:26 PM IST

0
अयोध्या विवादः अकेले पड़े कपिल सिब्बल, वक्फ बोर्ड ने भी उनकी दलील से किया किनारा

मंगलवार को सुप्रीम कोर्ट में अयोध्या मामले पर सुनवाई हुई. सुनवाई के दौरान सुन्नी वक्फ बोर्ड के वकील और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता कपिल सिब्बल ने दलील दी कि इस मामले की सुनवाई को 2019 लोकसभा चुनावों तक स्थगित किया जाए. पहले तो इस मसले पर बीजेपी ने उन पर हमला बोला लेकिन अब वो चारों तरफ से घिरते नजर आ रहे हैं. सुन्नी वक्फ बोर्ड ने ही अब उनके इस दलील से किनारा कर लिया है.

सुन्नी वक्फ बोर्ड के सदस्य और बाबरी मस्जिद मामले के पक्षकार हाजी महबूब ने सिब्बल के बयान को गलत बताया है. उन्होंने कहा कि हां, कपिल सिब्बल हमारे वकील हैं लेकिन वो एक राजनीतिक पार्टी से भी जुड़े हुए हैं. मंगलवार को सुप्रीम कोर्ट में उनका बयान गलत था. हम इस मामले में जल्द से जल्द समाधान चाहते हैं.

उन्होंने कहा कि हम इस लड़ाई को लंबे समय से लड़ रहे हैं. हम कोर्ट से इसका जल्दी समाधान चाहते हैं. मैं व्यक्तिगत तौर पर उनके इस दलील से सहमत नहीं हूं कि 2019 तक सुनवाई टाल दी जाए. उन्होंने यह भी कहा कि राम मंदिर के लिए संसद में कानून लाने से पीएम मोदी को बचना चाहिए. उनका कहना था कि मुस्लिम पक्ष ने मामले को जीत लिया है. इसके बाद मंदिर निर्माण के लिए विवादित भूमि को सौंपने का कोई विचार नहीं होना चाहिए.

कपिल सिब्बल द्वारा सुप्रीम कोर्ट में दी गई इस दलील के बाद केंद्रीय मंत्री और भगवान राम के वकील रह चुके रविशंकर प्रसाद ने कहा कि वकील के तौर पर वो दलील पेश कर सकते हैं लेकिन उनको यह नहीं भूलना चाहिए कि वो देश के पूर्व कानून मंत्री भी हैं. उन्होंने पूछा कि वो ऐसा क्यों चाहते हैं कि मामले की सुनवाई 2019 में हो. उनका यह बयान कई मामलों में गैर जिम्मेदाराना है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi