S M L

अगस्ता वेस्टलैंड मामला: मिशेल ने 2009-2013 के दौरान खर्च किए थे 92 लाख रुपए

सीबीआई ने कोर्ट से मिशेल की रिमांड 5 दिनों के लिए बढ़ाने की मांग करते हुए कहा कि वह उससे 18.4 मिलियन यूरो कॉन्ट्रैक्ट संबंधित दस्तावेजों के सिलसिले में पूछताछ करना चाहती है

Updated On: Dec 16, 2018 10:50 AM IST

FP Staff

0
अगस्ता वेस्टलैंड मामला: मिशेल ने 2009-2013 के दौरान खर्च किए थे 92 लाख रुपए

सीबीआई ने शनिवार को स्पेशल कोर्ट से कहा कि अगस्ता वेस्टलैंड चॉपर स्कैम मामले में बिचौलिए क्रिश्चियन मिशेल ने साल 2009 से 2013 के दौरान 92 लाख रुपए खर्च किए थे. सीबीआई ने कोर्ट से मिशेल की रिमांड 5 दिनों के लिए बढ़ाने की मांग करते हुए कहा कि वह उससे 18.4 मिलियन यूरो कॉन्ट्रैक्ट संबंधित दस्तावेजों के सिलसिले में पूछताछ करना चाहती है. सीबीआई की इस मांग को मंजूर करते हुए कोर्ट ने मिशेल को 4 दिनों के लिए मुंबई भेज दिया .

टाइम्स ऑफ इंडिया की खबर अनुसार सीबीआई ने कोर्ट से कहा था कि वह उसे मुंबई स्थित पवन हंस इंडिया लिमिटेड के ऑफिस ले जाना चाहती है. यहां सीबीआई उसके इस बयान की पुष्टि करना चाहती है जिसमें उसने WG-30 हेलिकॉप्टर्स के बायबैक का ऑप्शन की बात कही थी. वहां सीबीआई पवन हंस इंडिया लिमिटेड के अधिकारियों से मिशेल का सामना कराएगी.

सीबीआई ने कहा है कि उसने कई देशों से लेटर ऑफ रिक्वेस्टस बरामद किए हैं. अब वह इन दस्तावेजों को मिशेल के सामने रखकर पूछताछ करना चाहती है. वहीं मिशेल के वकील ने उसके बचाव में कहा कि सीबीआई को पूछताछ के लिए काफी समय पहले ही मिल चुका है, उन्हें मिशेल के खिलाफ कुछ भी नहीं मिल सका है.

सीबीआई ने पेशी के दौरान मिशेल की वकील रोजमेरी पेट्रिजी की भूमिका को लेकर भी सवाल खड़े किए. इसपर पेट्रिजी ने कहा कि वो उसके (क्रिश्चियन मिशेल) केस की इटली और स्विटजरलैंड में पिछले लगभग 5 साल से पैरवी कर रही हैं. इसके बाद कोर्ट ने उन्हें सबके सामने ही मिशेल से 10 मिनट तक बातचीत करने की इजाजत दी.कोर्ट ने उन्हें मिशेल से सीबीआई की कस्टडी में मुलाकात करने की अनुमति नहीं दी.

क्रिश्चियन मिशेल पर क्या हैं आरोप

कथित बिचौलिए क्रिश्चियन मिशेल जेम्स को बीते 4 दिसंबर को यूएई से प्रत्यर्पित कर भारत लाया गया था. पटियाला हाउस कोर्ट में सीबीआई मामले देखने वाले विशेष जज ने 24 सितंबर, 2015 को मिशेल के खिलाफ गैर जमानती गिरफ्तारी वारंट जारी किया था. इस वारंट के आधार पर इंटरपोल ने उनके खिलाफ रेड कॉर्नर नोटिस जारी किया. जिसके बाद उसे फरवरी 2017 में दुबई में गिरफ्तार कर लिया गया था.

57 वर्षीय मिशेल अगस्ता वेस्टलैंड मामले में भारत में आपराधिक कार्यवाही से बच रहा था. दुबई में गिरफ्तारी के बाद से मिशेल जेल में था और उसे यूएई में कानूनी और न्यायिक कार्यवाही के लंबित रहने तक हिरासत में भेजा गया था.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi