विधानसभा चुनाव | गुजरात | हिमाचल प्रदेश
S M L

आजादी के बाद पटेल के योगदान को मिटाने के प्रयास किए गए: मोदी

मोदी ने सरदार वल्लभ भाई पटेल की 142 वीं जयंती पर मंगलवार को यहां हरी झंडी दिखाकर ‘रन फॉर यूनिटी’ की शुरुआत की

FP Staff Updated On: Oct 31, 2017 03:10 PM IST

0
आजादी के बाद पटेल के योगदान को मिटाने के प्रयास किए गए: मोदी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुजरात चुनाव से पहले कांग्रेस पर हमला करते हुए मंगलवार को कहा कि कुछ सियासी दलों और सरकारों ने अतीत में, आजादी मिलने के बाद देश को एकजुट करने के सरदार वल्लभ भाई पटेल के योगदान को कम करके दिखाने और उसे मिटाने के प्रयास किए.

मोदी ने सरदार वल्लभ भाई पटेल की 142वीं जयंती पर मंगलवार को यहां हरी झंडी दिखाकर ‘रन फॉर यूनिटी’ की शुरूआत की. उन्होंने कहा कि देश के पहले गृहमंत्री की राजनीतिक सूझ-बूझ और शासन कौशल की वजह से मंगलवार को देश एकजुट है.

प्रधानमंत्री ने कहा 'सरदार तो सरदार' है

उन्होंने कहा, ‘पटेल को कम महत्व देने के प्रयास हुए ताकि ये सुनिश्चित किया जा सके कि उनके योगदान को भुला दिया जाए. लेकिन सरदार तो सरदार हैं, सरकार या कोई भी दल भले ही उनके योगदान को स्वीकार करे या नहीं, लेकिन राष्ट्र और युवा उन्हें नहीं भूलेंगे.’

प्रधानमंत्री ने कहा की ‘भारत के युवा हमारे देश के निर्माण में उनके योगदान का और उनका सम्मान करते हैं.’ मोदी की टिप्पणियां गुजरात में आगामी विधानसभा चुनाव से पहले इसलिए महत्व रखती हैं क्योंकि पटेल इसी राज्य से हैं.

प्रधानमंत्री ने सरदार वल्लभ भाई पटेल को दी श्रद्धांजलि 

पटेल को श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि आजादी के तुरंत बाद आए मुश्किलों से उन्होंने न केवल देश को बचाया, बल्कि पूरे देश को एकजुट करने में सफलता भी पाई.

उन्होंने कहा, ‘ ब्रिटिश सरकार भारत को छोटे-छोटे राज्यों में तोड़ना चाहती थी. पटेल ने साम-दाम, दंड-भेद, राजनीति, कूटनीति समेत सभी साधनों का इस्तेमाल कर सभी रियासतों को मिलाकर बहुत कम समय में एक राष्ट्र बनाने में सफलता पाई.’

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi