S M L

नागरिकता विधेयक: साहित्य अकादमी पुरस्कार विजेता के खिलाफ राजद्रोह का मुकदमा

असम में नागरिकता (संशोधन) विधेयक के खिलाफ जारी प्रदर्शनों के बीच पुलिस ने साहित्य अकादमी पुरस्कार विजेता डॉक्टर हिरेन गोहेन के खिलाफ राजद्रोह का मुकदमा दर्ज किया

Updated On: Jan 10, 2019 04:24 PM IST

FP Staff

0
नागरिकता विधेयक: साहित्य अकादमी पुरस्कार विजेता के खिलाफ राजद्रोह का मुकदमा

असम में नागरिकता (संशोधन) विधेयक के खिलाफ जारी प्रदर्शनों के बीच गुरुवार को पुलिस ने असमी साहित्यकार और साहित्य अकादमी पुरस्कार विजेता डॉक्टर हिरेन गोहेन, वरिष्ठ पत्रकार मंजीत महंत और केएमएसएस नेता अखिल गोगोई के खिलाफ राजद्रोह का मुकदमा दर्ज किया है. गुवाहाटी के पुलिस आयुक्त दीपक कुमार ने बताया कि पुलिस ने स्वत: संज्ञान लेते हुए लातासिल पुलिस थाने में भारतीय दंड संहिता की धारा 124 (ए), 120 (बी) समेत संबंधित धाराओं में मुकदमा दर्ज किया है.

कुमार ने कहा, 'इन सभी के खिलाफ एक मुकदमा दर्ज किया गया है. मैं इसकी जांच कर रहा हूं कि गुवाहाटी में सात जनवरी को हुई नागरिक समाज की बैठक के दौरान उन्होंने क्या कहा था.' तीनों एक नागरिक संगठन, नागरिक समाज के सदस्य हैं जो नागरिकता (संशोधन) विधेयक का विरोध कर रहा है. आपको बता दें कि इस बैठक में असम के पूर्व डीजीपी हरेकृष्णा देका भी मौजूद थे.

आपको बता दें कि ये विधेयक नागरिकता कानून 1955 में संशोधन के लिए लाया गया था. इस विधेयक के कानून बनने के बाद, अफगानिस्तान, बांग्लादेश और पाकिस्तान के हिन्दू, सिख, बौद्ध, जैन, पारसी और ईसाई धर्म के मानने वाले अल्पसंख्यक समुदायों को 12 साल के बजाय छह साल भारत में गुजारने पर और बिना उचित दस्तावेजों के भी भारतीय नागरिकता मिल सकेगी.

(भाषा से इनपुट)

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi