S M L

असम: जहरीली शराब पीने से 66 लोगों की मौत, सरकार ने दिए जांच के आदेश

जहरीली शराब पीने से असम के चाय बागानों में काम करने वाले कम से कम 66 लोगों की मौत हो गई है. अकेले गोलाघाट जिले में 39 लोगों की मौत हुई है

Updated On: Feb 23, 2019 11:05 AM IST

FP Staff

0
असम: जहरीली शराब पीने से 66 लोगों की मौत, सरकार ने दिए जांच के आदेश

जहरीली शराब पीने से असम के चाय बागानों में काम करने वाले कम से कम 66 लोगों की मौत हो गई है. अकेले गोलाघाट जिले में 39 लोगों की मौत हुई है. अभी भी कई लोग अस्पताल में भर्ती हैं. स्थानीय पुलिस अधिकारी ने बताया कि मरने वालों की संख्या बढ़ भी सकती है.

न्यूज-18 की खबर के मुताबिक, कई लोगों को गंभीर अवस्था में जोरहट मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया गया है. जहरीली शराब पीने से मौत की खबर तब आई है जब दो सप्ताह पहले ही उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड में कम से कम इसी कारण से लगभग 100 लोगों की मौत हो गई थी.

बीजेपी विधायक मृणाल सैकिया ने बताया कि 100 से अधिक लोगों ने गुरुवार को शराब पी थी और शराब को एक ही विक्रेता से खरीदा गया था. ये लोग सालीमीरा चाय बागान में काम करते थे. पुलिस ने इस घटना के सिलसिले में दो लोगों को गिरफ्तार किया है.

यह भी पढ़ें- यूपी, उत्तराखंड में जहरीली शराब से 99 की मौत, 3000 से ज्यादा लोग गिरफ्तार

असम के मुख्यमंत्री सर्वानंद सोनोवाल ने घटना की जांच के आदेश दिए हैं. घटना को लेकर जिले के दो आबकारी अधिकारियों को निलंबित कर दिया गया है. पुलिस ने कहा कि गुरुवार रात को 12 लोगों को गोलाघाट सिविल अस्पताल में मृत घोषित कर दिया गया. गुरुवार रात को ही बाद में तीन अन्य लोगों की मौत हो गई और 15 लोगों की मौत शुक्रवार को हुई. अधिकारियों ने बताया कि 23 लोगों की मौत गोलाघाट सिविल अस्पताल में, जबकि सात लोगों की मौत जोरहाट मेडिकल कॉलेज अस्पताल में हुई है.

गोलाघाट सिविल अस्पताल में मरीजों का इलाज कर रहे एक डॉक्टर ने कहा कि देशी जहरीली शराब पीने की वजह से ये मौतें हुईं और अस्पताल लाए गए ज्यादातर लोगों की हालत गंभीर थी.

मौतों पर चिंता व्यक्त करते हुए मुख्यमंत्री ने अपर असम मंडल आयुक्त जूली सोनोवाल को मामले की जांच करने के निर्देश दिए और एक महीने के भीतर सरकार को इसकी रिपोर्ट सौंपने के लिए कहा है.

यह भी पढ़ें- बीजेपी नेताओं का गला खराब होने पर भी नेहरू जिम्मेदार हो जाते हैं: कांग्रेस

सोनोवाल ने राज्य के ऊर्जा मंत्री तपन कुमार गोगोई, सांसद कामाख्या प्रसाद तासा और विधायक मृणाल सैकिया को घटनास्थल का दौरा करने को कहा है. असम के आबकारी मंत्री परिमल शुक्ल वैद्य ने विभाग के अधिकारियों की एक टीम को घटना की जांच करने का निर्देश दिया है.

वहीं, कांग्रेस विधायक रूपज्योति कुर्मी ने आबकारी मंत्री के इस्तीफे की मांग की है और मुख्यमंत्री से मृतकों के परिजनों को उचित मुआवजा देने का अनुरोध किया है.

(एजेंसी इनपुट के साथ)

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi