S M L

रेप के मामलों में फंसा आसाराम भक्तों को ब्रह्मचर्य का पालन करना सिखाता था

रेप के मामले में दोषी और हत्या जैसे मामलों में आरोपी आसाराम लोगों को 'ब्रह्मचर्य' से जुड़ी शिक्षाएं भी देता था और सिखाता था कि कैसे खुद पर संयम रखा जाना चाहिए

Updated On: Apr 25, 2018 05:42 PM IST

FP Staff

0
रेप के मामलों में फंसा आसाराम भक्तों को ब्रह्मचर्य का पालन करना सिखाता था

नाबालिगों से यौन शोषण मामले में जोधपुर की विशेष अदालत ने आसाराम को उम्रकैद की सजा सुनाई है. उसके दो अन्य सह-आरोपियों को 20-20 साल की सजा सुनाई गई है. जबकि दो आरोपी सबूतों के अभाव में बरी हो गए हैं.

आसाराम के आश्रम की वेबसाइट के मुताबिक दुनिया भर में बापू के 4 करोड़ अनुयायी हैं और दुनिया भर में उसके 400 से ज्यादा आश्रम भी हैं. रेप के मामले में दोषी और हत्या जैसे मामलों में आरोपी आसाराम लोगों को 'ब्रह्मचर्य' से जुड़ी शिक्षाएं भी देता था और सिखाता था कि कैसे खुद पर संयम रखा जाना चाहिए.

महिलाओं को कहा था 'मनचली'

आसाराम अपने प्रवचनों में इस्तेमाल किए गए 'अभद्र' शब्दों के लिए कई बार विवादों में भी रहा. साल 2013 में जबलपुर में एक प्रवचन के दौरान आसाराम महिलाओं को 'मनचली' कहकर विवादों में आ गया था. आसाराम के मुताबिक मनचली महिलाएं शादी के बाद भी आजादी के नाम पर धारा 498ए का दुरुपयोग करती हैं. वे मनचली होती हैं, इसलिए पूरे परिवार को फंसा देती हैं.

आसाराम ने दिल्ली निर्भया गैंगरेप के बाद भी कहा था कि अगर उस लड़की ने सरस्वती मंत्र लिया हुआ होता तो बॉयफ्रेंड के साथ फिल्म देखने जाती ही क्यों. आसाराम ने एक बार डॉक्टरों को 'हरामी' कह दिया था जिस पर काफी विवाद हुआ.

'ब्रह्मचर्य' सिखाने वाला रेपिस्ट!

आसाराम बाकायदा 'ब्रह्मचर्य सत्संग' का आयोजन करता था जिसमें पुरुषों को खुद पर 'कंट्रोल' रखने के तरीके बताए जाते थे. आसाराम ने ऐसे छह आसनों की भी खोज की थी जिन्हें करने के बाद पुरुष खुद पर काबू रख सकते थे. आसाराम की वेबसाइट के मुताबिक खुद पर कंट्रोल रखने के लिए एक कटोरी दूध में निहारते हुए- ॐ नमो भगवते महाबले पराक्रमाय, मनोभिलाषितं मनः स्तंभ कुरु कुरु स्वाहा' मंत्र का 21 बार जाप करने से ब्रह्मचर्य की रक्षा हो जाती है.

इसके आलावा जब कभी भी मन चंचल हो और अशुद्ध विचारों के साथ किसी स्त्री के स्वरूप की कल्पना उठे तो ‘ॐ दुर्गा देव्यै नमः’ मंत्र का जाप बड़े काम आता है. सवाल यही उठता है कि एक रेप के मामले में दोषी और दो अन्य में आरोपी आसाराम ने खुद कितनी बार इन मन्त्रों का जाप किया था.

महिलाओं को भी देता था शिक्षाएं

आसाराम के आश्रम का दावा है कि बापूजी महिलाओं के उत्थान के लिए भी काफी काम करता था और इसकी सारी जानकारी mum.ashram.org वेबसाइट पर मौजूद भी है.

आसाराम ने एक 'गर्भ संस्कार केंद्र' खोला हुआ था जिसमें गर्भवती महिलाओं को ये बताया जाता था कि कैसे वो अपने बच्चे को गर्भ में ही 'संस्कारित' कर सकती हैं. इसके आलावा महिलाओं को पति के साथ कैसे रहना चाहिए, कुंवारी लड़कियों को क्या करना चाहिए और क्या नहीं इससे जुड़ी शिक्षाएं भी दी जाती हैं.

(न्यूज18 से साभार)

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Ganesh Chaturthi 2018: आपके कष्टों को मिटाने आ रहे हैं विघ्नहर्ता

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi