Co Sponsor
In association with
In association with
S M L

केजरीवाल की कार में चंदे के पैसों से लगे हैं टायर और बैटरी

इस कार के दो टायर बदल दिए गए हैं, नया इंजन नियंत्रण मॉड्यूल और एक नई बैटरी लगाई गई है

Bhasha Updated On: Oct 25, 2017 11:45 AM IST

0
केजरीवाल की कार में चंदे के पैसों से लगे हैं टायर और बैटरी

आम आदमी पार्टी के लिए भाग्यशाली माने जाने वाली ब्लू कलर की वैगन आर कार अपने मेकओवर के बाद सड़क पर उतरने को तैयार है. ये कार इस महीने की शुरुआत में चोरी हो जाने के दो दिन बाद मिल गई थी. कार के दो टायर बदल दिए गए हैं, एक नई बैटरी लगाई गई है और इसके अलावा इसमें नया इंजन नियंत्रण मॉड्यूल लगाया गया है.

कार के दो टायर चंदे से लगे हैं

चोरी होने से पहले आप नेता वंदना सिंह इस कार का इस्तेमाल कर रही थीं. अब कार की बैटरी और दो टायर आप कार्यकर्ताओं के चंदे से लगाए गए हैं. वहीं इंजन कंट्रोल मॉड्यूल को खुद वंदना ने खरीदा है. उन्होंने इस सब को जुगाड़ करना बताया है.

आप के कार्यकर्ताओं के मुताबिक उनकी पार्टी के लिए ये हैचबैक कार केवल पहियों पर चलने वाला वाहन नहीं है और इसकी भावनात्मक कीमत भी हैं.

 दिल्ली सचिवालय से हुई थी चोरी 

मारूति की इस वैगन आर कार को 12 अक्तूबर को दिल्ली सचिवालय के बाहर से किसी ने चुरा लिया था. दो दिन बाद यह गाजियाबाद में मिली थी. चोरों ने इसकी बैटरी निकाल ली थी, नए टायरों की जगह पुराने लगा दिए और इसके पुर्जे भी बदल दिए.

वंदना ने कहा, ‘आईपी इस्टेट थाने ने हमें 16 अक्तूबर को कार सौंपी. लेकिन हमें पता चला कि इसकी बैटरी चुरा ली गई है और टायर बदल दिए गए हैं. हमें पार्टी दफ्तर से एक और वाहन लाकर कार को खींचकर ले जाना पड़ा.’ उन्होंने बताया कि इसके बाद कार को चालू करने की कवायद शुरू हुई. लेकिन पैसे की कमी बड़ी बाधा बन रही थी. जुगाड़ होने तक ये राउज एवेन्यू में पार्टी कार्यालय में खड़ी रही.

केजरीवाल ने उनका मनोबल बढ़ाने का प्रयास किया 

वंदना ने कहा कि बाद में कुछ जुगाड़ कर लिया गया. उन्होंने कहा कि कार का चोरी हो जाना उनके जीवन के सबसे दुखद दिनों में से था. मुझे कम से कम 100 फोन कॉल आए. वंदना ने कहा कि इस दौरान दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने उनका मनोबल बढ़ाने का प्रयास किया.

जनवरी 2013 में एक पार्टी कार्यकर्ता ने नीले रंग की यह कार केजरीवाल को उपहार में दी थी और तब से ये ‘आम आदमी की कार’ कहलाने लगी थी. केजरीवाल ने 2015 के विधानसभा चुनावों तक इसका इस्तेमाल किया. इसी दौरान केजरीवाल सत्ता में पहुंचे और कार को भाग्यशाली माना जाने लगा.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
AUTO EXPO 2018: MARUTI SUZUKI की नई SWIFT का इंतजार हुआ खत्म

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi