S M L

दिल्ली पहले मुगलों की गुलाम थी, अब LG की गुलाम है: केजरीवाल

उन्होंने एलजी पर निशाना साधते हुए कहा कि सभी राज्यों में लोग अपनी सरकार चुनते हैं लेकिन दिल्ली में उल्टा है. लोग वोट तो डालते हैं लेकिन उनका कोई काम नहीं होता

FP Staff Updated On: Jul 02, 2018 10:02 AM IST

0
दिल्ली पहले मुगलों की गुलाम थी, अब LG की गुलाम है: केजरीवाल

आम आदमी पार्टी के संयोजक अरविंद केजरीवाल ने दिल्ली को पूर्ण राज्य का दर्जा देना ही दिल्ली की सभी समस्याओं का हल बताते हुए अगले लोकसभा चुनाव में दिल्ली की जनता से आप को वोट देने की अपील की है.

केजरीवाल ने इस मांग पर पार्टी की ओर से आयोजित महासम्मेलन में कहा, 'दिल्ली में चुनी हुई सरकार के बावजूद उपराज्यपाल (एलजी) का शासन चलता है. इसकी वजह से सरकार चाहकर भी कोई काम नहीं कर पाती है.' केजरीवाल ने एनडीएमसी इलाको को छोड़ कर बाकी दिल्ली की शासन शक्तियां दिल्ली सरकार को देने की वकालत की.

केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली पहले मुगलों के अधीन थी, उसके बाद अंग्रेज शासन करने आए और अब एलजी के अधीन है. उन्होंने एलजी पर निशाना साधते हुए कहा कि सभी राज्यों में लोग अपनी सरकार चुनते हैं लेकिन दिल्ली में उल्टा है. लोग वोट तो डालते हैं लेकिन उनका कोई काम नहीं होता.

उन्होंने कहा, 'दिल्ली में चार महीने से आईएएस अधिकारियों ने हड़ताल कर रखी थी. हम एलजी से मिलने गए लेकिन वे नहीं मिले. यदि पूर्ण राज्य होता तो वह मिलने से मना नहीं कर सकते थे. एलजी ने दिल्ली के लोगों का अपमान किया है जिसका बदला दिल्ली के लोग 2019 के चुनाव में लेंगे.'

इससे पहले पार्टी की दिल्ली इकाई के प्रभारी गोपाल राय ने कहा कि पार्टी सोमवार से दिल्ली के पूर्ण राज्य के लिए अभियान चलाएगी. इसके लिए सभी विधानसभा कार्यालय पर दो जुलाई को बैठक बुलाई गई है. तीन जुलाई को सभी मतदान केंद्र और वार्डों में तीन हजार आंदोलन केंद्र खुलेंगे. उन्हीं केंद्रों से यह आंदोलन शुरू होगा. उन्होंने कहा कि कार्यकर्ता टोली बनाकर घर-घर जाकर लोगों से हस्ताक्षर करवाएंगे. इसके साथ ही केजरीवाल की चिठ्ठी लोगों तक पहुंचाएगे. दस लाख फार्म इकठ्ठा होने के बाद इसे प्रधानमंत्री तक पहुंचाया जाएगा.

आम आदमी पार्टी ने दिल्ली को पूर्ण राज्य का दर्जा देने के मुद्दे पर जनसमर्थन के लिए टोल फ्री नंबर जारी किया है. सम्मेलन में उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया सहित दिल्ली सरकार के सभी मंत्री और पार्टी के सभी प्रमुख नेता शामिल हुए.

(इनपुट भाषा से)

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
SACRED GAMES: Anurag Kashyap और Nawazuddin Siddiqui से खास बातचीत

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi