S M L

अरूणाचल प्रदेश: शिक्षकों ने 88 छात्राओं को दी कपड़े उतारने की सजा

इन छात्राओं पर आरोप है कि इन्होंने प्रिंसिपल के खिलाफ कथित तौर पर अश्लील शब्द लिखे थे.

Updated On: Nov 30, 2017 09:47 AM IST

Bhasha

0
अरूणाचल प्रदेश: शिक्षकों ने 88 छात्राओं को दी कपड़े उतारने की सजा

अरूणाचल प्रदेश से एक शर्मनाक करने वाली खबर आई है. यहां कथित तौर पर एक गर्ल्स स्कूल की 88 छात्राओं को तीन शिक्षकों ने सजा के तौर परअपने कपड़े उतारने के लिए मजबूर किया. इन छात्राओं पर आरोप है कि इन्होंने प्रिंसिपल के खिलाफ कथित तौर पर अश्लील शब्द लिखे थे.

पुलिस ने बताया कि पापुम पारे जिला में तनी हप्पा (न्यू सागली) स्थित कस्तूरबा गांधी बालिका विद्यालय की छठी और सातवीं कक्षा की 88 छात्राओं को 23 नवंबर को इस सजा का सामना करना पड़ा.

हालांकि, यह मामला 27 नवंबर को सामने आया, जब पीड़िताओं ने ऑल सागली स्टूडेंट्स यूनियन से संपर्क किया, जिसने फिर स्थानीय पुलिस के पास एफआईआर दर्ज कराई.

शिकायत के मुताबिक, दो सहायक शिक्षकों और एक जूनियर शिक्षक ने 88 छात्राओं को अन्य छात्राओं के सामने अपने कपड़े उतारने के लिए मजबूर किया. दरअसल, इन छात्राओं के पास से कागज मिला था जिस पर प्रधानाध्यापक और एक छात्रा के खिलाफ अश्लील शब्द लिखे थे.

जिले के पुलिस अधीक्षक तुम्मे अमो ने छात्र संगठन (एएसएसयू) द्वारा एफआईआर दर्ज कराए जाने की आज पुष्टि की. उन्होंने बताया कि मामला यहां महिला पुलिस थाना को सौंप दिया गया है. महिला थाने की प्रभारी ने बताया कि पीड़िताओं और उनके माता पिता के साथ साथ शिक्षकों से पूछताछ की जाएगी.

अरूणाचल प्रदेश कांग्रेस कमेटी ने इस घटना की निंदा की और कहा कि शिक्षकों की ऐसी जघन्य हरकत छात्राओं को प्रभावित कर सकते हैं. इसने एक बयान में कहा कि किसी बच्चे की गरिमा से छेड़छाड़ करना कानून और संविधान के खिलाफ है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi