S M L

अरुण जेटली ने आज से संभाला वित्त मंत्रालय का कामकाज, CCS की मीटिंग में लिया हिस्सा

केंद्रीय मंत्री अरुण जेटली वह पिछले काफी दिनों से अस्वस्थ चल रहे थे और अमेरिका में अपना इलाज करवा रहे थे

Updated On: Feb 15, 2019 11:10 AM IST

FP Staff

0
अरुण जेटली ने आज से संभाला वित्त मंत्रालय का कामकाज, CCS की मीटिंग में लिया हिस्सा

अरुण जेटली ने शुक्रवार यानी आज से एक बार फिर केंद्रीय वित्त मंत्री के रूप में कार्यभार संभाल लिया है. उन्होंने केंद्रीय मंत्रिमंडल की सुरक्षा मामलों की समिति (सीसीएस) की मीटिंग में हिस्सा भी लिया.इस मामले में अरण जेटली ने मीडिया से कहा- शहीदों के शव लाने के लिए विमान भेजा गया है. सीसीएस में पुलवामा हमले पर गंभीर चर्चा हुई है. उन्होंने आगे कहा- हम सीसीएस के सभी मुद्दों को नहीं बता सकते. विदेश मंत्रालय सभी कुटनीतिक कदम उठाएगा. पाकिस्तान से मोस्ट फेवर्ड नेशन का दर्जा वापस लिया गया. पाकिस्तान को दुनिया अलग-थलग करेगी और हम इस काम को करेंगे. पुलवामा आतंकी हमले में पाकिस्तान का सीधा हाथा है.

बता दें कि वह पिछले काफी दिनों से अस्वस्थ चल रहे थे और अमेरिका में अपना इलाज करवा रहे थे. अरुण जेटली की गैर मौजूदगी में वित्त मंत्री का कार्यभार पीयूष गोयल संभाल रहे थे. मोदी सरकार का अंतरिम और आखिरी बजट पीयूष गोयल ने ही पेश किया था.

कुछ दिनों पहले ही केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी पर हमला करते हुए उनकी तुलना फेल हुए बच्चे से की थी. उन्होंने कहा कि फेल बच्चा हमेशा टॉपर से चिढ़ता है. बता दें कि अरुण जेटली अमेरिका से इलाज कराने के बाद बीते शनिवार को भारत लौट आए हैं. स्वदेश वापसी के बाद ही उन्होंने फेसबुक पर एक पोस्ट भी लिखा है. उन्होंने इस पोस्ट में कांग्रेस पार्टी पर भी जमकर हमला किया है.

उन्होंने कहा कि हमें ऐसी पार्टियों से देश को बचाना है जो संस्थानों को बर्बाद करने में विश्वास रखती हैं. कांग्रेस पर रक्षा बलों, न्यायपालिका और रिजर्व बैंक के खिलाफ फर्जी अभियान चलाने का आरोप लगाते हुए अरुण जेटली ने बीते रविवार को कहा था कि देश एवं इसकी संस्थाओं को संस्था बर्बाद करने वालों से बचाने का समय आ गया है. उन्होंने आरोप लगाया कि कांग्रेस नीत सरकारें रिजर्व बैंक, न्यायपालिका और केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) जैसी संस्थाओं में हस्तक्षेप करती रही थीं. समय आ गया है कि भारत और इसकी संस्थाओं को संस्था तोड़ने वालों से बचाया जाए.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi