Co Sponsor
In association with
In association with
S M L

सेना ने किया खच्चर का सम्मान: 'पेडोंगी' होगा मेस लॉन्ज का नाम

पोलो रोड पर बने ऑफिसर्स मेस के लॉन्ज का नाम ‘पेडोंगी’ रखा गया है

FP Staff Updated On: May 30, 2017 12:39 PM IST

0
सेना ने किया खच्चर का सम्मान: 'पेडोंगी' होगा मेस लॉन्ज का नाम

दिल्ली में सेना के एक मेस के लॉन्ज का नाम सबसे लंबे समय से फौज के लिए काम करने वाले खच्चर के नाम पर होगा. सेना ने जानवरों की सेवा को सम्मान देते हुए यह कदम उठाया है.

हिंदुस्तान टाइम्स की खबर के अनुसार, पोलो रोड पर बने ऑफिसर्स मेस के लॉन्ज का नाम ‘पेडोंगी’ रखा गया है. पेडोंगी करीब 30 साल तक भारतीय सेना से जुड़ा रहा था. भारतीय सेना में पेडोंगी का नाम सिक्किम के पेडोंग शहर के नाम पर था, वह 1962 में सेना से जुड़ा और 1998 में उसकी मौत हुई.

खच्चर सेना के पशु यातायात (एटी) यूनिट का हिस्सा हैं जो ऊंचाई वाले दूरदराज के इलाकों में काम में लाए जाते हैं. हालांकि धीरे-धीरे इन इलाकों में भी ऑल-टेरेन वेहिकल (एटीवी) लगाने की योजना है. ऐसे में धीरे-धीरे एटी यूनिट का काम कम होता जाएगा.

खच्चरों ने कारगिल युद्ध में अहम भूमिका निभाई थी.

कुछ दिन पहले भी पेडोंगी चर्चा में रहा था जब इंटरनेट पर उससे जुड़ी एक कहानी वायरल हुई थी. कहा गया था कि युद्ध के दौरान उसे पाकिस्तानी सेना ने पकड़ लिया था लेकिन वह पाकिस्तान के हथियार लेकर भाग निकला था और वापस लौट आया था.

हालांकि बाद में यह कहानी गलत साबित हुई. लेकिन पेडोंगी को भारतीय सेना का सबसे अधिक सेवा देने वाला खच्चर माना जाता है.

(तस्वीर: डिफेंस फोरम, 1971 युद्ध के दौरान खच्चर)

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
AUTO EXPO 2018: MARUTI SUZUKI की नई SWIFT का इंतजार हुआ खत्म

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi