विधानसभा चुनाव | गुजरात | हिमाचल प्रदेश
S M L

17 तोपों की सलामी के साथ अर्जन सिंह को दी गई अंतिम विदाई

भारतीय वायु सेना के मार्शल अर्जन सिंह का अंतिम संस्कार सोमवार सुबह 9:30 बजे राजकीय सम्मान के साथ किया गया

FP Staff Updated On: Sep 18, 2017 01:10 PM IST

0
17 तोपों की सलामी के साथ अर्जन सिंह को दी गई अंतिम विदाई

भारतीय वायु सेना के मार्शल अर्जन सिंह का अंतिम संस्कार सोमवार सुबह 9:30 बजे राजकीय सम्मान के साथ किया गया. उनके सम्मान में सोमवार को सभी सरकारी इमारतों में राष्ट्रीय ध्वज आधा झुकाया गया.

मार्शल सिंह को अंतिम विदाई

अर्जन सिंह के सम्मान में फ्लाई पास्ट किया गया और 17 तोपों की सलामी के साथ उन्हें अंतिम विदाई दी गई.

अर्जन सिंह के अंतिम संस्कार में पूर्व पीएम मनमोहन सिंह, लालकृष्ण आडवाणी, रक्षामंत्री निर्मला सीतारमन और तीनों सेनाओं के सेना प्रमुख पहुंचे.बरार स्क्वायर पर पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने अर्जन सिंह को श्रद्धांजलि दी.

अर्जन सिंह का सेना के रिसर्च एंड रेफरल अस्पताल में निधन हो गया था. रविवार को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, पीएम मोदी और रक्षामंत्री निर्मला सीतारमण ने उनके अंतिम दर्शन किए और उन्हें श्रद्धांजलि दी. पीएम मोदी ने ट्वीट कर मार्शल अर्जन सिंह के निधन पर शोक संवेदना व्यक्त की थी.

पीएम नरेंद्र मोदी ने उनकी मृत्यु पर दुख व्यक्त करते हुए कहा, अर्जन सिंह के आकस्मिक निधन पर पूरा देश शोक व्यक्त करता है. हम उनकी अद्वतीय देश सेवा को हमेशा याद रखेंगे. पीएम ने एक अन्य ट्वीट में लिखा की भारत 1965 की जंग में उनके बेमिसाल नेतृत्व को कभी नहीं भूल सकता.

गृह मंत्रालय के प्रवक्ता ने बताया, 'मार्शल ऑफ द इंडियन एयरफोर्स' अर्जन सिंह का राजकीय सम्मान के साथ अंतिम संस्कार किया जाएगा और दिल्ली में सभी सरकारी इमारतों में 18 सितंबर को राष्ट्रीय ध्वज आधा झुका दिया जाएगा.

अर्जन सिंह वर्ष 1965 के भारत-पाकिस्तान युद्ध के नायक थे और इकलौते वायु सेना अधिकारी थे, जिन्हें फाइव स्टार रैंक दिया गया था. उन्हें 44 वर्ष की आयु में भारतीय वायु सेना का नेतृत्व करने की जिम्मेदारी दी गई जिसे उन्होंने शानदार तरीके से निभाया.

Marshal_Arjan_Singh

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi