S M L

मुख्य सचिव थप्पड़कांड: दिल्ली पुलिस ने डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया से की पूछताछ

दिल्ली सरकार के मुख्य सचिव के साथ आम आदमी पार्टी के विधायकों के द्वारा कथित मारपीट का मामला अब अरविंद केजरीवाल की सरकार के लिए फांस बनता जा रहा है.

Ravishankar Singh Ravishankar Singh Updated On: May 25, 2018 10:14 PM IST

0
मुख्य सचिव थप्पड़कांड: दिल्ली पुलिस ने डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया से की पूछताछ

दिल्ली सरकार के मुख्य सचिव के साथ आम आदमी पार्टी के विधायकों के द्वारा कथित मारपीट का मामला अब अरविंद केजरीवाल की सरकार के लिए फांस बनता जा रहा है. इस कथित मारपीट मामले को लेकर दिल्ली पुलिस ने जहां पिछले शुक्रवार को अरविंद केजरीवाल से पूछताछ की थी वहीं इस शुक्रवार को डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया से की. दिल्ली पुलिस दिल्ली सरकार में नंबर 1 और नंबर 2 की हैसियत रखने वाले अरविंद केजरीवाल और मनीष सिसोदिया को किसी भी कीमत पर बख्शने के मुड में नहीं है.

दिल्ली सरकार में नंबर दो की हैसियत रखने वाले मनीष सिसोदिया से दिल्ली पुलिस ने उनके मथुरा रोड स्थित आवास पर पुछताछ की. पिछले बुधवार को ही दिल्ली पुलिस ने मनीष सिसोदिया को पूछताछ के लिए नोटिस भेजा था. मनीष सिसोदिया ने बाद में बुधवार को ही दिल्ली पुलिस को सूचित किय था कि वह शुक्रवार शाम 4.30 बजे पूछताछ के लिए उपलब्ध रहेंगे.

बता दें कि दिल्ली पुलिस अरविंद केजरीवाल के साथ पूछताछ में जिस तरह से वीडियो रिकॉर्डिंग करवाई थी, मनीष सिसोदिया के साथ हुई पूछताछ में भी यही फॉर्मूला अपनाएगी. दिल्ली पुलिस ने अरविंद केजरीवाल की उस मांग को खारिज कर दिया था, जिसमें उन्होंने दिल्ली पुलिस से वीडियो रिकॉर्डिंग की सीडी उपलब्ध करने की बात कही थी. दिल्ली पुलिस मनीष सिसोदिया के साथ पूछताछ में भी यही फॉर्मूला अपनाएगी पर वीडियो रिकॉर्डिंग की सीडी नहीं देगी.

बता दें कि अरविंद केजरीवाल ने भी 17 मई को दिल्ली पुलिस को पत्र लिखकर 18 मई को 11 बजे जांच में शामिल होने से इनकार कर दिया था. अरविंद केजरीवाल को दिल्ली पुलिस ने 18 तारीख को सुबह 11 बजे जांच में शामिल होने का पत्र लिखा था. मनीष सिसोदिया ने भी अरविंद केजरीवाल की तरह 11 बजे पूछताछ करने के बजाए शाम 4.30 पूछताछ का वक्त दिया.

बता दें कि दिल्ली के मुख्य सचिव अंशु प्रकाश ने आरोप लगाया था कि 19 फरवरी की आधी रात को मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की मौजूदगी में आप के दो विधायकों ने उनके साथ मारपीट और बदसलूकी की थी. इस घटना के सामने आने के बाद देशभर के आईएएस एसोसिएशनों ने अंशु प्रकाश के साथ हुई बदसलूकी को लेकर अरविंद केजरीवाल की आलोचना की थी. आईएएस अफसरों के एसोसिएशनों का साफ कहना था कि उन्हें दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल के लिखित माफीनामे से कम कुछ भी मंजूर नहीं है. लेकिन अरविंद केजरीवाल ने इस मसले पर माफीनामा लिखने से साफ इंकार कर दिया था.

anshu prakash

आप विधायकों के द्वारा मुख्य सचिव के साथ मारपीट मामले में तब नया मोड़ आया था, जब सीएम के एडवाइजर वीके जैन अचानक ही सरकारी गवाह बन गए. वीके जैन इस घटना के प्रमुख गवाह बताए जाते हैं. घटना के वक्त वीके जैन दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के सलाहकार थे. वीके जैन यूटी कैडर के रिटायर्ड आईएएस अधिकारी हैं. दिल्ली पुलिस के सूत्रों का कहना है कि अरविंद केजरीवाल और वीके जैन को आमने-सामने बैठा कर दिल्ली पुलिस पूछताछ करेगी.

दिलचस्प बात यह है कि वीके जैन मुख्य तौर पर दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल की सभी फाइलें देखने के साथ उनकी मीटिंग और अधिकारियों के साथ समन्वय का काम करते थे. इसके अलावा वीके जैन दिल्ली सरकार के अधिकारियों के साथ कॉर्डिनेशन का काम भी करते थे.

दिल्ली पुलिस ने इस मामले में आम आदमी पार्टी के दो विधायकों प्रकाश जरवाल और अमानतुल्लाह खान को गिरफ्तार भी किया था. दोनों विधायक इस समय जमानत पर बाहर हैं. दिल्ली पुलिस अरविंद केजरीवाल और मनीष सिसोदिया से पहले अरविंद केजरीवाल के निजी सचिव बिभव कुमार से भी इस बारे में पूछताछ कर चुकी है. इस मामले में दिल्ली पुलिस अब तक दिल्ली के सीएम सहित कुळ कुल 14 लोगों से पूछताछ कर चुकी है, जिसमें 11 विधायक भी शामिल हैं.

पिछले शुक्रवार को ही दिल्ली पुलिस अरविंद केजरीवाल से इस कथित मारपीट के संबंध में कई घंटों तक पछताछ की थी. 19 फरवरी की आधी रात को घटित इस घटना के चार दिन बाद दिल्ली पुलिस अरविंद केजरीवाल के आवास पर पहुंची थी. दिल्ली पुलिस ने सीएम आवास के सीसीटीवी फुटेज और कई हार्ड डिस्क को भी जब्त किया था. दिल्ली पुलिस ने सीएम आवास से बरामद हार्डडिस्क की जांच के लिए फॉरेंसिक लैब को भेज दिया था, जिसकी रिपोर्ट अभी तक नहीं आई है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
सदियों में एक बार ही होता है कोई ‘अटल’ सा...

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi