S M L

किसानों को दुर्दशा से उबारने के लिए दो अक्टूबर से भूख हड़ताल पर बैठेंगे अन्ना हजारे

लोकपाल की नियुक्ति और किसानों के लिए पेंशन समेत कई मांगों को लेकर अन्ना भूख हड़ताल पर बैठेंगे

Updated On: Sep 03, 2018 10:06 PM IST

FP Staff

0
किसानों को दुर्दशा से उबारने के लिए दो अक्टूबर से भूख हड़ताल पर बैठेंगे अन्ना हजारे

आगामी दो अक्टूबर से सामाजिक कार्यकर्ता अन्ना हजारे लोकपाल की नियुक्ति और किसानों की स्थिति में सुधार समेत कई मांगों के चलते अनशन पर बैठने वाले हैं. इनमें किसानों के लिए प्रतिमाह 5,000 रुपए पेंशन भी एक मुख्य मांग है.

सोमवार को रालेगण सिद्धी में उनके सहयोगियों द्वारा जारी किए गए बयान के मुताबिक पिछले कुछ सालों से किसान जबरदस्त आर्थिक संकट के दौर से गुजर रहे हैं. बयान के अनुसार अन्ना हजारे ने किसानों को दुर्दशा से उबारने के लिए स्वामीनाथन आयोग की सिफरिशों को लागू करने की मांग की है.

बयान में कहा गया है कि बार बार आग्रह के बावजूद सरकार ने इस पर ध्यान नहीं दिया है. अन्ना के एक सहयोगी ने बताया कि उन्होंने देश के प्रत्येक किसान के लिए पांच हजार रुपए प्रति माह पेंशन की मांग की है.

रिश्वत के खिलाफ अभियान चला चुके 80 वर्षीय अन्ना महात्मा गांधी जयंती के दिन अपने गांव से इस भूख हड़ताल की शुरूआत करेंगे. अन्ना अपनी मांगों के समर्थन में इस साल मार्च में भी दिल्ली में भूख हड़ताल पर बैठे थे. जिसे सरकार के आश्वासन के बाद वापस ले लिया था.

उस दौरान अन्ना ने सरकार को चेतावनी दी थी कि अगर छह महीनों के भीतर उनकी मांगे पूरी नहीं होती हैं तो वह फिर से हड़ताल पर बैठेंगे. अन्ना के सहयोगियों के मुताबिक अन्ना इसी वादे के चलते भूख हड़ताल पर बैठने वाले हैं.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi