S M L

आंध्र प्रदेश के रिटायर्ड जज और पत्नी ने ट्रेन के आगे कूदकर की आत्महत्या

एडिशनल डिस्ट्रिक्ट जज के पद से रिटायर हुए पी सुधाकर ने एक सुसाइड नोट भी छोड़ा है. इसमें उन्होंने खुद को किडनी की बीमारी से पीड़ित बताया है

Updated On: Oct 06, 2018 02:03 PM IST

FP Staff

0
आंध्र प्रदेश के रिटायर्ड जज और पत्नी ने ट्रेन के आगे कूदकर की आत्महत्या

वृद्धावस्था के चलते जब एक रिटायर्ड जज को अपनी परेशानियों से मुक्ति का कोई रास्ता नहीं सूझा तो उन्होंने आत्महत्या का रास्ता चुना. एक रिटायर्ड जज के कथित आत्महत्या का मामला सामने आने पर पुलिस यही निष्कर्ष निकाल रही है.

आंध्र प्रदेश के एक रिटायर्ड जज और उनकी पत्नी ने तिरुपति में शुक्रवार को ट्रेन के आगे कूदकर कथित तौर पर आत्महत्या कर ली. पुलिस ने यह जानकारी दी.

रेलवे के डीएसपी रमेश बाबू ने बताया कि तिरुपति के रहनेवाले 65 साल के पी सुधाकर तिरुपति से 10 किलोमीटर दूर Chadalavada Engineering College के पास तिरुपति-रेनीगुंटा रेलवे ट्रैक पर शुक्रवार दोपहर मृत पाए गए थे. पुलिस को यह संदेह है कि सुधाकर के इस कठोर कदम उठाने के पीछे उनकी सेहत से जुड़ी समस्याएं थीं.

लेकिन मामला इससे भी ज्यादा दुखद तब हो गया, जब उनकी पत्नी ने भी आत्महत्या कर ली. पुलिस ने बताया कि सुधाकर की 56 साल की पत्नी पी वरालक्ष्मी को जब अपने पति की मौत की जानकारी मिली तो उन्होंने भी कुछ घंटों बाद इसी जगह पर दूसरी ट्रेन के आगे कूदकर जान दे दी. पुलिस को दोनों का शव ट्रैक पर क्षत-विक्षत पड़ा मिला.

पुलिस के मुताबिक एडिशनल डिस्ट्रिक्ट जज के पद से रिटायर हुए सुधाकर ने एक सुसाइड नोट भी छोड़ा है. इसमें उन्होंने खुद को किडनी की बीमारी से पीड़ित बताया और कहा कि वो काफी लंबे समय से इससे पीड़ित हैं और अब इससे ज्यादा इसे नहीं झेल सकते.

हिंदुस्तान टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक, सुधाकर और वरालक्ष्मी के बेटे संदीप और बेटी सबिता बेंगलुरु में सॉफ्टवेयर प्रोफेशनल्स के तौर पर काम करते हैं. माता-पिता की आत्महत्या की खबर मिलते ही दोनों तुरंत मौके पहुंचे.

रिटायर्ड जज और उनकी पत्नी तिरुचानुरु में एक अपार्टमेंट में अकेले रहते थे. दोनों शवों को पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया गया और पुलिस मामले की जांच कर रही है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi