S M L

TDP सांसद के ठिकानों पर IT का छापा, कहा- राजनीतिक बदले की कार्रवाई

छापों की आलोचना करते हुए टीडीपी ने कहा कि यह विशुद्ध रूप से राजनीतिक बदला है क्योंकि रमेश संसद में लगातार राज्य के हितों के लिए आवाज उठा रहे थे

Updated On: Oct 12, 2018 04:27 PM IST

FP Staff

0
TDP सांसद के ठिकानों पर IT का छापा, कहा- राजनीतिक बदले की कार्रवाई

आयकर विभाग ने शुक्रवार को तेलुगु देशम पार्टी (टीडीपी) के राज्यसभा सदस्य सीएम रमेश के आंध्र प्रदेश और तेलंगाना स्थित परिसरों की तलाशी ली. सांसद ने इन छापों को ‘राजनैतिक बदले’ की कार्रवाई करार दिया.

सूत्रों ने बताया कि रमेश के कडपा जिला स्थित पैतृक गांव येरागुंतला में उनके आवास पर छापेमारी शुक्रवार की सुबह शुरू हुई. उसी वक्त आयकर विभाग के 10 कर्मचारियों के दल ने हैदराबाद में जुबली हिल्स स्थित उनके आवास और उनकी कंपनी रित्विक प्रोजेक्ट्स के कार्यालय पर भी छापा मारा.

आयकर विभाग के सूत्रों ने बताया, रमेश के आंध्र प्रदेश में कडपा जिला स्थित आवासों की तलाशी चल रही है. आयकर विभाग के अधिकारी हैदराबाद में भी उनके आवास और कार्यालय के रिकॉर्ड की जांच कर रहे हैं. यह नियमित बात है.... इसमें कोई महत्व की बात नहीं है.

छापों की आलोचना करते हुए टीडीपी ने कहा कि यह ‘विशुद्ध रूप से राजनीतिक बदला है’ क्योंकि रमेश संसद में लगातार राज्य के हितों के लिए आवाज उठा रहे थे.

सूचना एवं प्रौद्योगिकी मंत्री एन लोकेश ने ट्वीट कर आरोप लगाया, यह आंध्र के लोगों पर हमला है. मोदी सरकार प्रतिशोधपूर्ण रवैया अपना रही है क्योंकि हम आंध्र प्रदेश से किए गए सभी वादों को पूरा करने की मांग कर रहे थे. उन्होंने आरोप लगाया कि इस छापेमारी का लक्ष्य उद्योगपतियों को डरा कर राज्य में निवेश की आवक को रोकना है.

नई दिल्ली में मौजूद रमेश का कहना है कि उनके परिसरों पर हो रही आयकर की छापेमारी के पीछे विपक्षी दल वाईएसआर कांग्रेस का हाथ है. उन्होंने कहा, प्रधानमंत्री ने स्वयं संसद के भीतर हमें नतीजे की चेतावनी दी थी क्योंकि हम लोग राज्य के अधिकारों के लिए लड़ रहे थे. आयकर का छापा उस चेतावनी का नतीजा है.

रमेश ने कहा कि यह राजनीतिक बदले का मामला है. केंद्र सरकार पिछले 15 दिनों से हमारे नेताओं को ट्रैक कर रही थी. ऐसा ही कर्नाटक, तमिलनाडु, पश्चिम बंगाल में हुआ था और अब आंध्र प्रदेश में हो रहा है. जो भी विपक्ष में है उसे निशाना बनाया जाएगा.

संसद की लोक लेखा समिति के सदस्य रमेश ने यह भी कहा कि उन्होंने पिछले चार साल में 200 करोड़ रुपए की आय दिखाई है और कर भरा है. उन्होंने कहा कि वह ऐसे हमलों से नहीं डरेंगे.

(इनपुट भाषा से)

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi