S M L

AMU देशद्रोह मामला: मायावती ने कहा, BJP की तरह कांग्रेस ने भी अल्पसंख्यकों पर किया अत्याचार

मायावती ने कहा, यूपी सरकार ने AMU के 14 छात्रों पर देशद्रोह का मुकदमा दर्ज किया है. दोनों सरकारी आतंक है, अति निंदनीय

Updated On: Feb 14, 2019 12:34 PM IST

FP Staff

0
AMU देशद्रोह मामला: मायावती ने कहा, BJP की तरह कांग्रेस ने भी अल्पसंख्यकों पर किया अत्याचार

एएमयू (AMU) के 14 छात्रों के खिलाफ दर्ज किए गए देशद्रोह के मामले में बीएसपी (BSP) सुप्रीमो मायावती (Mayawati) ने कहा है कि जिस तरह बीजेपी (BJP) के सरकार में आज अल्पसंख्यकों के खिलाफ अत्याचार हो रहे हैं, वैसा ही अत्याचार एक समय पर कांग्रेस (Congress) ने भी किया था.

मायावती ने अपने बयान में कहा, 'कांग्रेस की सरकार ने बीजेपी की तरह गौहत्या के शक में मुसलमानों पर बराबर कार्यवाही की. अब यूपी सरकार ने एएमयू के 14 छात्रों पर देशद्रोह का मुकदमा दर्ज किया है. दोनों सरकारी आतंक है, अति निंदनीय. लोग फैसला करें की दोनों सरकारों में क्या अंतर है.'

अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय के चौदह छात्रों पर मंगलवार शाम देशद्रोह का मुकदमा दर्ज किया गया है. यह कार्रवाई रिपब्लिक टीवी क्रू के साथ एक विवाद के बाद की गई है. छात्रों पर कार्रवाई BJP युवा मोर्चा जिलाध्यक्ष मुकेश लोधी और रिपब्लिक टीवी के पत्रकार की शिकायत के बाद की गई है. बीजेपी नेता मुकेश लोधी ने अपनी शिकायत में आरोप लगाया है कि उन पर एएमयू के छात्रों ने हमला किया और यह छात्र पाकिस्तान जिंदाबाद और भारत मुर्दाबाद के नारे लगा रहे थे.

लोधी ने कहा कि एएमयू के हिंदू मुस्लिम छात्रों में तनाव था. मेरी कार पर इन्हीं छात्रों ने हमला किया. बीजेपी सरकार सत्ता में आई है, जिससे हिंदुओं ने बोलने से पहले खुद को सशक्त महसूस किया है. पहले हमारी आवाज को दबा दिया गया था.

क्या है पूरा मामला?

एएमयू छात्रसंघ की ओर से मंगलवार को आयोजित एक कार्यक्रम में ऑल इंडिया मजलिस इत्तेहादुल उल मुस्लिमीन के सांसद असदुद्दीन ओवैसी को आमंत्रित किया गया है. इसके विरोध में अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (एबीवीपी) के कुछ कार्यकर्ताओं ने एएमयू के फैज गेट के पास प्रदर्शन किया.

हालांकि ओवैसी कार्यक्रम में नहीं आए, लिहाजा इसे लेकर खड़ा हुआ विवाद खत्म हो गया. इसी बीच कार्यक्रम की कवरेज के लिए आए मीडिया के लोगों से छात्रों और विश्वविद्यालय कर्मचारियों की बहस हो गई.

पुलिस ने बताया कि दोनों घटनाएं एक दूसरे से जुड़ी हुई नहीं थीं लेकिन इनकी वजह से एएमयू परिसर में हालात तनावपूर्ण हो गए. इसे लेकर समाचार चैनल और एएमयू प्रशासन की ओर से एक-दूसरे के खिलाफ मामला दर्ज कराया गया है.

इस बीच एबीवीपी ने शिकायत दर्ज करायी है कि विश्वविद्यालय के फैज गेट के पास उनके सदस्यों के साथ मारपीट हुई और उनकी एक बाइक जला दी गई.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi