S M L

अमृतसर ट्रेन हादसा: प्रोग्राम के लिए दी थी इजाजत, ट्रैक पर रहने के लिए नहीं- पुलिस कमीश्नर

एसएस श्रीवास्तव ने कहा कि हमने एक निश्चित क्षेत्र में एक निश्चित घटना के लिए अनुमति दी थी. ट्रैक्स पर रहने के लिए या फिर ऐसी किसी और चीज के लिए अनुमति नहीं थी

Updated On: Oct 21, 2018 05:04 PM IST

FP Staff

0
अमृतसर ट्रेन हादसा: प्रोग्राम के लिए दी थी इजाजत, ट्रैक पर रहने के लिए नहीं- पुलिस कमीश्नर
Loading...

अमृतसर ट्रेन हादसे पर बात करते हुए पुलिस कमीश्नर एसएस श्रीवास्तव ने कहा कि दशहरे के दिन कुल 20 जगहों पर प्रोग्राम आयोजित करने के लिए अनुमति दी गई थी. धोबी घाट को मिलाकर कुल 20 जगहों पर सशर्त अनुमति दी गई थी.

एसएस श्रीवास्तव ने कहा कि हमने एक निश्चित क्षेत्र में एक निश्चित घटना के लिए अनुमति दी थी. ट्रैक्स पर रहने के लिए या फिर ऐसी किसी और चीज के लिए अनुमति नहीं थी. श्रीवास्तव ने कहा, खामियों की जांच की जा रही है. हमारे पास मुख्य स्थल और समारोह स्थल सहित पूरे शहर की सुरक्षा थी.

शुक्रवार को रावण दहन के समय हुए भीषण ट्रेन हादसे में करीब 60 लोगों की मौत हो गई जबकि कई लोग घायल हो गए. जानकारी के मुताबिक, यह कार्यक्रम स्थानीय कांग्रेस नेता द्वारा आयोजित किया गया था, जिसमें पंजाब सरकार के मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू की पत्नि नवजोत कौर सिद्धू भी पहुंची थीं. इस विवाद के बाद सिद्धू ने कहा था कि जब यह हादसा हुआ तो वो मौके से निकल चुकी थीं.

गवर्नमेंट रेलवे पुलिस (GRP) ने आईपीसी की धारा 304 और 304A के तहत FIR दर्ज कर ली है. हालांकि एफआईआर में किसी शख्स का नाम नहीं दिया गया है. जीआरपी ने डीएमयू ट्रेन के ड्राइवर अरविंद कुमार से भी पूछताछ की.

कुमार ने बताया कि उन्होंने इमरजेंसी ब्रेक लगाया था लेकिन ट्रेन रुकी नहीं और गुस्साए लोग ट्रेन पर पत्थर फेंकने लगे थे. रेलवे प्रशासन को दिए लिखित बयान में अरविंद कुमार ने कहा कि जब उन्हें ट्रैक के पास लोग दिखे तो उन्होंने इमरजेंसी ब्रेक लगाया और लगातार हॉर्न भी बजाया.

0
Loading...

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
फिल्म Bazaar और Kaashi का Filmy Postmortem

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi