S M L

अमृतसर रेल हादसे में सिद्धू और उनकी पत्नी को मिली क्लीन चिट

मजिस्ट्रेट ने अपनी रिपोर्ट में अमृतसर के स्थानीय प्रशासन को इस घटना का दोषी ठहराते हुए कहा है कि उन्हें जांच करनी चाहिए थी कि क्या कार्यक्रम स्थल की व्यवस्था पर्याप्त है या नहीं

Updated On: Dec 06, 2018 05:14 PM IST

FP Staff

0
अमृतसर रेल हादसे में सिद्धू और उनकी पत्नी को मिली क्लीन चिट

अमृतसर ट्रेन हादसे की जांच कर रहे विशेष कार्यकारी मजिस्ट्रेट ने पंजाब के स्थानीय निकाय मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू और उनकी पत्नी नवजोत कौर सिद्धू को क्लीन चिट दे दी है. माना जा रहा है कि कायदे से हादसे की जिम्मेदारी दशहरा समिति (पूर्व) के अध्यक्ष और आयोजक सौरभ मिथु मादा और कांग्रेस काउंसिलर के बेटे के उठानी चाहिए थी. उन्हें ही लोगों की सुरक्षा सुनिश्चित करनी चाहिए थी क्योंकि उन्होंने ही इस कार्यक्रम के लिए इस स्थल का चुनाव किया था.

जांच रिपोर्ट में सामने आई बातों के अनुसार हादसे वाले दिन सिद्धू अमृतसर में थे ही नहीं. उनकी पत्नी, जो मुख्य अतिथि के तौर पर यहां पहुंची थी, उन्हें भी इसका दोषी नहीं ठहराया जा सकता. एक मुख्य अतिथि का काम केवल उस कार्यक्रम में पहुंचना भर है, जहां उसे आमंत्रित किया गया है. हादसे के समय मुख्य अतिथि के उस स्थान को छोड़कर चले जाने तक हम सवाल नहीं उठा सकते. वह इसकी उत्तरदायी नहीं है.

प्रशासन ने अपनी जिम्मेदारियों से झाड़ा पल्ला

इंडियन एक्सप्रेस की खबर अनुसार मजिस्ट्रेट ने अपनी रिपोर्ट में अमृतसर के स्थानीय प्रशासन को इस घटना का दोषी ठहराते हुए कहा है कि उन्हें जांच करनी चाहिए थी कि क्या कार्यक्रम स्थल की व्यवस्था पर्याप्त है या नहीं. कहीं वहां लोगों को कोई खतरा तो नहीं था.

आयोजक ने प्रशासन से अनुमति ली थी, लेकिन अनुमति इस शर्त पर दी गई थी कि उन्हें नगर पालिका से भी अनुमति लेनी होगी. प्रशासन ने इस तरह मामले से अपना पल्ला झाड़ तो लिया, लेकिन बतौर मजिस्ट्रेट प्रशासन की जिम्मेदारी यहीं नहीं खत्म हो जाती. उन्हें बकायदा कार्यक्रम स्थल को देखना, परखना चाहिए था. एक महीने पूर्व ही कार्यक्रम के मुख्य आयोजक सौरभ मदान 'मिट्ठू' ने अपना एक वीडियो संदेश जारी कर इस पूरे घटनाक्रम में खुद को बेकसूर बताया था.

बीते 20 अक्टूबर,दशहरे की रात अमृतसर के जोड़ा फाटक इलाके में रावण दहन कार्यक्रम देख रहे सैकड़ों लोगों की भीड़ को दनदनाती हुई ट्रेन ने कुचल दिया था. यह सभी लोग रेलवे ट्रैक पर खड़े होकर रावण दहन देख रहे थे. इस घटना में 61 लोगों की ट्रेन से कटने से मौत हो गई थी. जबकि दर्जनों लोग गंभीर रूप से घायल हो गए थे.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi