S M L

अमृतसर रेल हादसा Updates: रेलवे ट्रैक के पास रावण दहन के लिए आयोजकों को पुलिस ने दी थी इजाजत

पंजाब के अमृतसर में एक बड़ा ट्रेन हादसा हुआ है, पठानकोट से अमृतसर आ रही एक ट्रेन की चपेट में आने से लगभग 50 से ज्यादा लोगों की मौत हो गई है.

| October 20, 2018, 07:07 PM IST

FP Staff

0

हाइलाइट

Oct 20, 2018

  • 19:12(IST)

    अमृतसर रेल हादसे में मारे गए 59 लोग

  • 19:11(IST)

    अमृतसर रेल हादसे में मारे गए लोगों की सूची जारी. मरने वालों में ज्यादातर उत्तर प्रदेश और बिहार के कामगार.

  • 19:11(IST)

    अमृतसर रेल हादसे में मारे गए लोगों की सूची जारी. मरने वालों में ज्यादातर उत्तर प्रदेश और बिहार के कामगार.

  • 18:15(IST)

    अकाली दल के नेता सुखबीर सिंह बादल ने राज्य सरकार पर हमला करते हुए कहा कि मौजूदा सरकार ने इस घटना को गंभीरता से नहीं लिया है. उन्होंने कहा कि पीड़ितों के बयानों के आधार पर एफआईआर दर्ज की जानी चाहिए इसी के साथ उन्होंने निष्पक्ष जांच की भी मांग की है.

  • 18:11(IST)

    यह काफी चौंकाने वाली घटना है. यह पंजाब सरकार के प्रशासन की विफलता है. यह आईपीसी की धारा 304 ए (लापरवाही से मौत का कारण) का मामला है. बीजेपी उन सभी के लिए न्याय मांगती है जिनकी इस हादसे में  मौत हुई है या जो घायल हैं: संबित पात्रा

  • 17:04(IST)

    पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने गृह सचिव को धार्मिक और सामाजिक कार्यक्रम के लिए इजाजत संबंधी गाइडलाइन बनाने के निर्देश दिए हैं. ताकि अमृतसर जैसी घटना दोबारा न हो सके.

  • 17:01(IST)

    अकाली दल के प्रमुख सुखबीर सिंह बादल घटनास्थल पर पहुंचे. उन्होंने इस घटना को नरसंहार बताया है. 

  • 15:50(IST)

    अमृतसर ट्रेन हादसे के बाद गुस्साए लोगों ने अमृतसर के शिवाला रेलवे क्रॉसिंग पर तोड़ फोड़ की. एएसआई जसपाल सिंह के मुताबिक बीती रात कुछ लोगों ने हादसे के बाद रेलवे क्रॉसिंग की खिड़कियां तोड़ दीं. इस बात की जानकारी उन्हें शनिवार सुबह मिली.

  • 15:13(IST)

    नवजोत कौर सिद्धू का कहना है कि धोबी घाट मैदान में खाली जगह थी. रावण को भी सही तरीके से बांधा गया था और उसके गिरने और उपद्रव मचने की भी कोई संभावना नहीं थी. नवजोत के मुताबिक वहां कोई भगदड़ नहीं मची थी. उनका कहना है कि मंच से 4-5 बार लोगों को धोबी घाट मैदान के भीतर आने के लिए भी कहा गया था.

  • 14:48(IST)

    अकाली दल के महासचिव बिक्रम मजीठिया ने शनिवार को मृतकों के परिजनों से मुलाकात की और ट्रेन हादसे पर शोक जाहिर किया.

  • 14:37(IST)

    दशहरा कमेटी ने धोबी घाट पर दशहरा का जश्न मनाने के लिए पुलिस से सुरक्षा प्रबंधन की मांग करते हुए पत्र लिखा था. वहीं पुलिस ने भी इस बात को कबूल किया है.

  • 13:40(IST)

    अमृतसर ट्रेन हादसा: 37 ट्रेनें निरस्त, 16 का बदला रास्ता

    पंजाब के अमृतसर में हुए रेल हादसे के बाद रेलवे ने शनिवार को वहां से गुजरने वाली 37 ट्रेनों को निरस्त कर दिया है जबकि 16 अन्य का मार्ग परिवर्तित कर दिया है. इसके साथ ही जालंधर अमृतसर रेलमार्ग पर आवाजाही रोक दी गई है.

    उत्तर रेलवे के प्रवक्ता दीपक कुमार ने बताया कि 10 मेल/एक्सप्रेस और 27 पैसेंजर रेलगाडि़यों को निरस्त कर दिया गया है. इसके अलावा 16 अन्य गाडियों को दूसरे मार्ग से उनके गंतव्य तक पहुंचाने की व्यवस्था की गई है जबकि 18 ट्रेनों को बीच में ही रोक कर उनकी यात्रा समाप्त कर दी गई. 

    शुक्रवार को देर शाम हुए इस हादसे में अब तक 61 लोगों की मौत हो चुकी है और 72 से अधिक लोग घायल हुए हैं. ये लोग दशहरा के पर्व पर वहां खाली जगह पर आयोजित रावण दहन कार्यक्रम को देखने एकत्र हुए थे.

  • 13:29(IST)
  • 13:28(IST)
  • 13:28(IST)

    कैप्टन सिंह ने कहा कि जब कोई हादसा होता है तब सारा का सारा प्रशासन उसमें लग जाता है. हम यहां जितना जल्द हो सकता था, उतना जल्द पहुंचे हैं. पंजाब की पूरी कैबिनेट आज अमृतसर में ही है.

  • 13:26(IST)

    अमरिंदर सिंह ने बताया कि इस हादसे में 59 लोगों की मौत हो गई है वहीं, 57 लोग घायल हैं. उन्होंने कहा कि शवों का पोस्टमार्टम जल्द से जल्द करने की कोशिश की जाएगी. ज्यादातर शवों की पहचान कर ली गई है, केवल 9 शव की पहचान की जानी बाकी है.

  • 12:51(IST)

    जब कैप्टन अमरिंदर सिंह से पूछा गया कि उन्होंने अमृतसर पहुंचने में 15 घंटे क्यों लगा दिए? इसका जवाब देते हुए उन्होंने कहा कि जब यह घटना घटी तब मैं एयरपोर्ट पर था और इजरायल के आधिकारि यात्रा पर जाने के लिए फ्लाइट का इंतजार कर रहा था.

  • 12:49(IST)

    पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने मृतकों के परिजनों को मुआवजे की राशि देने के लिए 3 करोड़ रुपए के फंड को तुरंत जारी करने का आदेश दे दिया है.

  • 12:47(IST)

    पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने कहा, यह बहुत दुखद हादसा है. पूरे देश की संवेदनाएं पीड़ितों के साथ है. उन्होंने घटना की मजिस्ट्रेट जांच के आदेश दे दिए हैं और चार सप्ताह के भीतर रिपोर्ट पेश करने को कहा है. उन्होंने कहा कि हम रेलवे से इस घटना की जांच करेंगे.

  • 12:44(IST)

    पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने अमृतसर में हुए रेल दुर्घटना पर दुख जताया है.

  • 12:39(IST)

    अमृतसर रेल हादसे में घायल हुए लोगों का हाल जानने मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह और कांग्रेस नेता सुनील जाखड़ अस्पताल पहुंचे हैं.

  • 12:27(IST)

    मिली जानकारी के मुताबिक, मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह घटना स्थल पर नहीं जाएंगे. अंत समय में उन्होंने वहां जाने की योजना बदल दी. अधिकारियों ने बताया कि वहां जाने से कानून-व्यवस्था पर असर पड़ सकता.

    सिंह के वहां जाने की सूचना मिलते ही घटना स्थल पर गुस्साए लोगों की भीड़ इकट्ठा हो गई थी.

  • 12:04(IST)

    अमृतसर हादसे वाली जगह पर भारी पुलिस बल तैनात

    पंजाब के अमृतसर शहर में जोड़ा फाटक के पास हुई रेल दुर्घटना की जगह पर भारी भीड़ को नियंत्रित करने के लिए शनिवार को पंजाब पुलिस के कमांडो और त्वरित कार्यबल के जवानों की तैनाती की गई. इस हादसे में 61 लोगों की जान चली गई.

    पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह शनिवार दिन में घटनास्थल का दौरा करेंगे. उन्होंने इस त्रासद ट्रेन हादसे की जांच के आदेश दिए. स्थिति को नियंत्रण में रखने के लिऐ हादसे वाली जगह पर भारी पुलिस बल तैनात किया गया है. 

    इस घटना में जालंधर की तरफ से आ रही ट्रेन की चपेट में आने से कम से कम 61 लोगों की मौत हो गई और 72 लोग घायल हो गए. ये लोग रेल पटिरयों के पास बने मैदान में दशहरा पर्व के अवसर पर रावण दहन कार्यक्रम देख रहे थे. हादसे के वक्त वहां कम से कम 300 लोग मौजूद थे.

  • 12:03(IST)

    मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह घायलों का हाल जानने के लिए पहुंचे अस्पताल

  • 11:59(IST)

    अमृतसर रेल हादसे में जान गंवाने वाले 13 वर्षीय बच्चे की पार्थिव शरीर को लेकर परिवार वाले अमृतसर-जालंधर हाई-वे पर प्रदर्शन कर रहे हैं और मुआवजे की मांग कर रहे हैं.

  • 11:57(IST)

    रेल राज्य मंत्री मनोज सिन्हा ने अमृतसर हादसे पर कहा है कि लोगों को भविष्य में पटरियों के नजदीक ऐसे आयोजन करने से बचना चाहिए. ड्राइवर को ट्रेन कहां स्लो करनी है, इसके लिए विशेष निर्देष दिए जाते हैं. उन्होंने बताया कि वहां एक कर्व था. ड्राइवर आगे की चीज को नहीं देख सका. उन्होंने पूछा कि हमें किस बात के लिए जांच का आदेश देना चाहिए. क्या ट्रेन स्पीड में चल रही थी इसकी जांच की जाए.

  • 11:44(IST)

    अमृतसर रेल हादसे पर रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने दुख जताया है और मृतकों के प्रति शोक व्यक्त किया है. उन्होंने भारत के राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से इस दुखी की घड़ी में बात कर अपनी संवेदना प्रकट की है.

    उन्होंने कहा, मैं पंजाब में हुई रेल दुर्घटना के दुखद परिणामों पर अपनी गहरी सहानुभूति प्रकट करता हूं. मेरी मृतकों के परिवार और दोस्तों के प्रति सहानुभूति है. उन्होंने घायलों के जल्द ठीक होने की कामना भी की है.

  • 11:31(IST)

    अमृतसर में हुए ट्रेन हादसे पर मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह की अधिकारियों के साथ बैठक चल रही है. बैठक में नवजोत सिंह सिद्धू भी मौजूद हैं. अधिकारी उन्हें घटना से जुड़ी जानकारी दे रहे हैं.

  • 11:30(IST)

    अमृतसर में हुए ट्रेन हादसे के बाद अमृतसर-मनावला सेक्शन की 10 मेल और 27 पैसेंजर ट्रेन को रद्द कर दिया गया है. 16 ट्रेन के रूट में बदलाव किया गया है.

  • 11:28(IST)

    नॉर्थ ईस्टर्न रेलवे के सीपीआरओ ने कहा कि अमृतसर ट्रेन हादसे में 58 लोगों की मौत हो गई है और 48 लोग घायल हुए हैं. उन्होंने कहा कि ऐसा नहीं लग रहा है कि ड्राइवर की गलती है. अमृतसर-हावड़ा मेल इस घटना से ठीक 2 मिनट पहले ही पास हुई थी.

    उन्होंने बताया कि फिलहाल अमृतसर-मनावाला सेक्शन पर सर्विस बंद है. हम दोपहर में एक रिव्यू मीटिंग करेंगे, उसके बाद आगे के फैसले पर निर्णय लिया जाएगा.

अमृतसर रेल हादसा Updates: रेलवे ट्रैक के पास रावण दहन के लिए आयोजकों को पुलिस ने दी थी इजाजत
Loading...

पंजाब के अमृतसर में एक बड़ा ट्रेन हादसा हुआ है. पठानकोट से अमृतसर आ रही एक ट्रेन की चपेट में आने से 50 से ज्यादा लोगों की मौत हो गई है.दशहरे के मौके पर यह अनहोनी घटना सामने आई है. रिपोर्ट्स के मुताबिक हादसा उस वक्त हुआ जब लोग अमृतसर के नजदीक चौड़ा बाजार में रेलवे ट्रैक के पास रावण दहन कर रहे थे. वहीं मृतकों के लिए 5-5 लाख रुपए मुआवजे का ऐलान किया गया है. साथ ही स्थानीय लोगों का कहना है कि वहां नवजोत कौर सिद्धू भी मौजूद थीं लेकिन हादसे के बाद वो वहां से चली गई.

दरअसल, रेलवे ट्रैक के नजदीक दशहरे के मौके पर रावण दहन का कार्यक्रम चल रहा था. इस दौरान हजारों की भीड़ वहां इकट्ठा थी. तभी वहां भगदड़ मच गई और लोगों को ट्रेन की आवाज सुनाई नहीं दी. जिसके कारण कई लोग एकाएक ट्रेन की चपेट में आ गए. फिलहाल मृतकों की संख्या में इजाफा होने की आशंका जताई जा रही है. पंजाब के मुख्यमंत्री ने गृह सचिव, स्वास्थ्य सचिव और एडीजीपी लॉ एंड ऑर्डर को तुरंत अमृतसर जाने के निर्देश दिए हैं. वहीं राजस्व मंत्री सुखबिंदर सरकारिया को बचाव अभियान की निगरानी के लिए तत्काल अमृतसर पहुंचने के लिए नियुक्त किया गया है. पुलिस कमिशनर एसएस श्रीवास्तव का कहना है कि मरने वालों के सही आंकड़ा के बारे में फिलहाल जानकारी नहीं है लेकिन संख्या 50-60 से ज्यादा हो सकती है.

हादसे पर पीएम नरेंद्र मोदी ने भी अपनी संवेदना प्रकट की है. पीएम का कहना है कि अमृतसर में ट्रेन दुर्घटना से बेहद दुखी हूं. उन लोगों के परिवारों के लिए मेरी गहरी संवेदनाएं है जिन्होंने अपने प्रियजनों को खो दिया और मैं प्रार्थना करता हूं कि घायल लोग जल्द ठीक हो जाएं. अधिकारियों से तुरंत सहायता प्रदान करने के लिए कहा गया है.

वहीं पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्‍टन अमरिंदर सिंह ने कहा, 'अमृतसर रेल हादसे के बारे में सुनकर सदमे में हूं. दुःख की इस घड़ी में मदद के लिए सभी सरकारी और प्राइवेट अस्पतालों को खुले रहने के लिए कहा है. जिला अधिकारियों को युद्ध स्तर पर राहत और बचाव अभियान शुरू करने के निर्देश जारी कर दिए गए हैं.' उन्होंने कहा कि अमृतसर में दशहरा के अवसर पर हुई रेल दुर्घटना के राहत और बचाव कार्य की व्यक्तिगत निगरानी के लिए अमृतसर जा रहा हूं. सरकार मृतकों के परिजनों को 5 लाख रुपए मुआवजा और घायलों का सरकारी और प्राइवेट अस्पतालों में मुफ्त ईलाज किया जाएगा.'

उत्तरी रेलवे के सीपीआरओ ने कहा कि गेट नंबर पर 27 पर अमृतसर और मनावाला के बीच ये हादसा हुआ. दशहरा का जश्न हो रहा था और कुछ घटना हुई जिसके बाद लोग बंद गेट नंबर 27 की तरफ दौड़ने लगे और डीएमयू ट्रेन नंबर 74943 उस बंद गेट से गुजर रही थी.

वहीं मौके पर मौजूद लोगों का कहना है कि ट्रेन की रफ्तार काफी तेज थी और लोग उसकी चपेट में आ गए.

पुलिस, फायर ब्रिगेड, स्थानीय प्रशासन मौके पर पहुंच चुकी है. वहीं मामले पर पुलिस का कहना है कि 50 से ज्यादा लोग हताहत हुए हैं. घायलों को अस्पताल पहुंचाया गया है. साथ ही स्थानीय लोगों का कहना है कि जब यह हादसा हुआ तो घटनास्थल पर नवजोत कौर सिद्धू भी मौजूद थीं. हादसा होने के बाद वह यहां से निकल गईं. स्थानीय लोग इसके लिए प्रशासन को जिम्मेदार ठहरा रहे हैं.

स्थानीय लोग इसके लिए रेलवे को जिम्मेदार ठहरा रहे हैं. साथ ही स्थानीय लोगों का कहना है ट्रेन यहां से बिना कोई हॉर्न दिए गुजरी जिससे लोग सतर्क नहीं हो पाए.

0
Loading...

अन्य बड़ी खबरें

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi