S M L

आर्मी चीफ को ब्लास्ट का जिम्मेदार मानने के बयान पर एचएस फुल्का ने दी सफाई

एचएस फुल्का ने बीते रविवार को कहा था कि गांव अदलीवाल में निरंकारी भवन में हमले की घटना ने मौड़ मंडी ब्लास्ट की याद ताजा कर दी है, जिसे डेरा सच्चा सौदा के श्रद्धालुओं ने ही किया था

Updated On: Nov 19, 2018 01:16 PM IST

FP Staff

0
आर्मी चीफ को ब्लास्ट का जिम्मेदार मानने के बयान पर एचएस फुल्का ने दी सफाई

अमृतसर बम ब्लास्ट को लेकर आम आदमी पार्टी के विधायक पद से इस्तीफा दे चुके एडवोकेट एचएस फुल्का ने बीते रविवार को कहा था कि गांव अदलीवाल में निरंकारी भवन में हमले की घटना ने मौड़ मंडी ब्लास्ट की याद ताजा कर दी है, जिसे डेरा सच्चा सौदा के श्रद्धालुओं ने ही किया था. फुल्का यहां तक कह गए थे कि हो सकता है आर्मी चीफ विपिन रावत ने अपनी बात को सच साबित करने के लिए खुद ही धमाका कराया हो लेकिन अब उन्होंने अपने इस बायन पर सफाई दी है.

उनका बयान कांग्रेस के खिलाफ था न कि आर्मी चीफ के खिलाफ

उन्होंने कहा कि बयान को बिल्कुल गलत तरीके से समझा गया है. उन्होंने अपील की कि उनके वीडियो को ध्यान से देखा जाए. उन्होंने कहा कि उनका बयान कांग्रेस के खिलाफ था न कि आर्मी चीफ के खिलाफ. इसके बाद उन्होंने अपने बयान को लेकर माफी भी मांगी.

वहीं पंजाब से कांग्रेस विधायक राजकुमार वरका ने कहा कि आखिर फुल्का ने किसके कहने पर इस तरह का बयान दिया. क्या इसका जवाब केजरीवाल देंगे. क्या फुल्का के बयान पर केजरीवाल का एग्रीमेंट है. आर्मी के खिलाफ कोई भी इस तरह की बातें स्वीकार नहीं करेगा. फुल्का के खिलाफ एफआईआर दर्ज की जाएगी.

फुल्का को अपने बयान पर पछतावा है

वहीं इस बारे में आम आदमी पार्टी के नेता संजय सिंह ने कहा कि एचएस फुल्का को अपने बयान पर पछतावा है. उन्हें इसके लिए माफ नहीं किया जाएगा. हालांकि वह पिछले 35 वर्षों से सन 1984 में हुए दंगों के पीड़ितों के न्याय के लिए आज भी लड़ रहे हैं. उनके बारे में सबको दिल से सोचना चाहिए.

निरंकारी भवन पर हुए ग्रेनेड हमले की जांच NIA ने शुरू कर दी है

अमृतसर के राजासांसी गांव में निरंकारी भवन पर हुए ग्रेनेड हमले की जांच नेशनल इंवेस्टिगेशन एजेंसी यानी NIA ने शुरू कर दी है. रविवार को हुए हमले में 3 लोगों की मौत हो गई थी जबकि 20 लोग घायल हो गए थे. सरकार अब इसे आतंकी हमला मान कर भी जांच कर रही है. निरंकारी भवन में जिस वक्त हमला किया गया वहां 250 लोग मौजूद थे. वहां हर रविवार को प्रवचन का आयोजन होता है.

राजधानी दिल्ली और पड़ोसी राज्यों में हाइअलर्ट जारी कर दिया गया है

इस घटना के बाद पंजाब सहित राजधानी दिल्ली और पड़ोसी राज्यों में हाइअलर्ट जारी कर दिया गया है. पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह आज घटनास्थल पर भी जाएंगे. हमले के बाद अमरिंदर सिंह ने कहा था कि इसके पीछे ISI के समर्थन वाले खालिस्तानी या दूसरे आंतकी संगठनों की भूमिका से इनकार नहीं किया जा सकता. मुख्यमंत्री ने हमलावरों की सूचना देने वालों को 50 लाख के इनाम का ऐलान किया है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi