S M L

विश्व पर्यावरण दिवस पर ‘ग्रीन गुड डीड’ का संदेश देंगे अमिताभ बच्चन

डा हर्षवर्धन ने बताया कि कार्बन उत्सर्जन के बारे में पेरिस समझौते को लेकर पीएम मोदी की कारगर पहल को वैश्विक मान्यता प्रदान करते हुए यूएन ने इस साल विश्व पर्यावरण दिवस भारत की मेजबानी में मनाने का फैसला किया है

Updated On: May 25, 2018 08:28 PM IST

Bhasha

0
विश्व पर्यावरण दिवस पर ‘ग्रीन गुड डीड’ का संदेश देंगे अमिताभ बच्चन

भारत की मेजबानी में इस साल पांच जून को मनाए जाने वाले विश्व पर्यावरण दिवस के अवसर पर बॉलीवुड स्टार अमिताभ बच्चन दुनिया को प्लास्टिक मुक्त बनाने के लिए केंद्रीय पर्यावरण मंत्रालय के ‘ग्रीन गुड डीड अभियान’ का संदेश देंगे.

पर्यावरण, वन एवं जलवायु परिवर्तन मंत्री डा हर्षवर्धन ने विश्व पर्यावरण दिवस के कार्यक्रम की रूपरेखा पेश करते हुए शुक्रवार को यह जानकारी दी. उन्होंने बताया कि कार्बन उत्सर्जन के बारे में पेरिस समझौते को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की कारगर पहल को वैश्विक मान्यता प्रदान करते हुए संयुक्त राष्ट्र ने इस साल विश्व पर्यावरण दिवस भारत की मेजबानी में मनाने का फैसला किया है.

मुख्य थीम प्लास्टिक के प्रयोग को रोकना है

डा हर्षवर्धन ने बताया कि इस बार पर्यावरण दिवस की मुख्य थीम प्लास्टिक के प्रयोग को रोकने पर आधारित होगी. आयोजन की व्यापक तैयारियों को अंतिम रूप देते हुए अमिताभ बच्चन ने पर्यावरण संकट से दुनिया को बचाने की मुहिम में अपनी भागीदारी भी सुनिश्चित करने की पहल की है. जल्द ही यह मुहिम जागरूकता अभियान के रूप में शुरू की जाएगी.

उन्होंने बताया कि दुनिया भर में प्रदूषण के खिलाफ सरकारों के साथ जनभागीदारी वाले अभियान की कार्ययोजना को संयुक्त राष्ट्र पर्यावरण कार्यक्रम (यूएनईपी) ने भी स्वीकार किया है. इस मुहिम के तहत ‘ग्रीन गुड डीड’ में प्लास्टिक के प्रयोग को ना कहने सहित लगभग 600 ऐसे कामों की सूची तैयार की गई है, जिनमें से अपनी मर्जी के कुछ काम हर व्यक्ति चुनकर अगर करेगा तो पर्यावरण को दूषित होने से बचाने में काफी मदद मिलेगी और इससे भारत में लोगों की कार्यशैली, नजरिए और जीवन पद्धति में भी बदलाव होगा जिसे ‘ग्रीन गुड बिहेवियर’ नाम दिया गया है.

पांच जून को पीएम मोदी करेंगे कार्यक्रम को संबोधित

इससे पहले मंत्रालय में संयुक्त सचिव एके जैन ने एक जून से पांच जून तक चलने वाले देशव्यापी कार्यक्रमों की रूपरेखा प्रस्तुत करते हुए बताया कि मुख्य कार्यक्रम पांच जून को दिल्ली में प्रधानमंत्री मोदी की अध्यक्षता में होगा. जिसमें मोदी विश्व समुदाय को संबोधित कर पर्यावरण के प्रति भारत की प्रतिबद्धताओं को पूरा करने के लिए किए प्रमुख कार्यों को पेश करेंगे. साथ ही ‘ग्रीन गुड डीड’ की वैश्विक मान्यता के प्रभाव से भी भारत और अन्य विकासशील देशों में होने वाले गुणात्मक बदलावों की जानकारी देंगे.

इससे पहले एक से चार जून तक दिल्ली और सभी राज्यों की राजधानी में कार्यशालाओं और प्रदर्शनियों का आयोजन किया जाएगा. इनमें राज्यों के मुख्यमंत्री और केंद्रीय मंत्री देश भर में ‘ग्रीन गुड डीड’ के प्रति जागरूकता अभियानों में सक्रिय भागीदारी करेंगे. चार जून को दिल्ली में सभी राज्यों के पर्यावरण मंत्रियों की बैठक होगी जिसमें सभी अभियानों की प्रगति की समीक्षा की जाएगी.

दिल्ली स्थित पर्यावरण भवन प्लास्टिक मुक्त

इस दौरान एक जून से यूएनईपी के प्रमुख और अन्य आला अधिकारियों का दल भारत में इस अभियान में अपनी हिस्सेदारी सुनिश्चित करेगा. डा हर्षवर्धन ने भारत के अब तक प्रयासों की जानकारी देते हुए बताया कि मंत्रालय के दिल्ली स्थित मुख्यालय ‘पर्यावरण भवन’ को प्लास्टिक मुक्त कर दिया गया है.

उन्होंने कहा कि मंत्रालय के देश भर में मौजूद कार्यालयों को भी प्लास्टिक मुक्त करने के लिए कहा गया है. जल्द ही सभी मंत्रालयों और राज्य सरकारों से अपनी इमारतों को प्लास्टिक मुक्त करने के लिए कहा जाएगा.

साथ ही नदियों और समुद्र तटों को साफ करने का अभियान वह अगले सप्ताह शुरू करेंगे. इसके लिये दो दर्जन स्थानों को चिन्हित किया गया है. उन्होंने कहा कि भारत का मकसद दुनिया को यह संदेश देना है कि पर्यावरण दिवस पर पेड़ लगाने जैसे सांकेतिक काम करने के बजाय इसे प्रदूषण फैलाने वाली जनसामान्य की आदतों में बदलाव से जोड़ कर आंदोलन बनाना है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
#MeToo पर Neha Dhupia

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi