S M L

AMU और जामिया में दलित आरक्षण को लेकर छिड़ा विवाद, धरने पर बैठी अंबेडकर महासभा

इससे पहले मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भी कन्नौज में मुस्लिम यूनिवर्सिटी में दलितों के आरक्षण की मांग की थी

FP Staff Updated On: Jul 03, 2018 12:23 PM IST

0
AMU और जामिया में दलित आरक्षण को लेकर छिड़ा विवाद, धरने पर बैठी अंबेडकर महासभा

अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी और दिल्ली की जामिया मिलिया इस्लामिया यूनिवर्सिटी में दलितों के लिए आरक्षण की मांग करते हुए अंबेडकर सभा ने लखनऊ में धरना प्रदर्शन किया. सोमवार को लखनऊ के हजरतगंज में अंबेडकर की प्रतिमा के सामने धरना प्रदर्शन कर अंबेडकर महासभा ने दलितों के आरक्षण का मुद्दा जोर-शोर से उठाया.

इससे पहले महासभा की राष्ट्रीय महामंत्री बीना मौर्या ने कहा था कि एएमयू प्रशासन ने यूनिवर्सिटी में पिछले 60 सालों से दलितों को आरक्षण न देकर दलित विरोधी होने का प्रमाण दिया है. उन्होंने कहा कि दलितों को आरक्षण न मिलने से काफी नुकसान हुआ है, और एएमयू यूनिवर्सिटी इसके लिए जिम्मेदार है.

योगी ने भी उठाई थी दलितों के आरक्षण की मांग

इससे पहले मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भी कन्नौज में मुस्लिम यूनिवर्सिटी में दलितों के आरक्षण की मांग की थी. उन्होंने कहा था कि अगर बीएचयू दलितों को आरक्षण दे सकता है तो जामिया और एएमयू जैसे यूनिवर्सिटी ऐसा क्यों नहीं कर सकतीं? उन्होंने लोगों से अपील करते हुए कहा था कि जो लोग इस बारे में चिंतित हैं उन्हें ये मुद्दा उठाना चाहिए.

वहीं बताया जा रहा है कि जिन्ना की तस्वीर को लेकर एएमयू प्रशासन को चिट्ठी लिखने वाल सांसद सतीश कुमार गौतम ने इस मुद्दे को लेकर भी एक खत लिखा है. उन्होंने एमयू के वीसी को खत लिखकर पूछा है कि एएमयू में एससी/एसटी और ओबीसी के छात्रों को प्रवेश के दौरान आरक्षण क्यों नहीं दिया जा रहा ? इसी के साथ उन्होंने ये भी पूछा है कि अल्पसंख्यक समुदायों को आरक्षण देने के लिए एएमयू प्रशसन ने अब तक क्या-क्या कोशिशें की हैं?

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
SACRED GAMES: Anurag Kashyap और Nawazuddin Siddiqui से खास बातचीत

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi