S M L

भारतीयों ने जरूरत से ज्यादा धैर्य दिखाने की वजह से काफी कुछ सहा है: अमर्त्य सेन

सेन ने कहा कि वह अब किसी भी व्यक्ति को धैर्य रखने को नहीं कहेंगे. उन्होंने कहा कि उन्हें लगता है कि अधीरता वह महत्वपूर्ण चीज है जो हमें अपने अंदर लानी होगी

Updated On: Jan 08, 2019 11:43 AM IST

FP Staff

0
भारतीयों ने जरूरत से ज्यादा धैर्य दिखाने की वजह से काफी कुछ सहा है: अमर्त्य सेन

नोबेल पुरस्कार से सम्मानित अर्थशास्त्री अमर्त्य सेन ने सोमवार को कहा कि भारतीयों ने असमानता और अन्याय पर जरूरत से ज्यादा धैर्य दिखाने की वजह से काफी कुछ सहा है. उन्होंने लोगों को इसके बजाय अधीर बनने की सलाह दी.

सेन ने कहा कि वह अब किसी भी व्यक्ति को धैर्य रखने को नहीं कहेंगे. उन्होंने संवाददाताओं से कहा कि उन्हें लगता है कि अधीरता वह महत्वपूर्ण चीज है जो हमें अपने अंदर लानी होगी. भारत ने जरूरत से ज्यादा धैर्य रखने की वजह से काफी कुछ सहा है.

सेन ने ये बयान तब दिया जब उनसे पूछा गया था कि क्या वह अभिनेता नसीरूद्दीन शाह को लोकसभा चुनाव खत्म होने तक धैर्य रखने की सलाह देंगे. गौरतलब है कि शाह ने हाल ही में भीड़ हिंसा पर अपनी एक टिप्पणी से विवाद पैदा कर दिया था.

सेन ने सोमवार को कहा कि वह इस बात को लेकर बहुत खुश हैं कि मीडिया असहिष्णुता के मुद्दे को पहले की तुलना में कहीं अधिक निर्भीकता से उठा रही है. उन्होंने यह भी कहा कि वह नालंदा विश्वविद्यालय का नाम बदले जाने की हिमायत करेंगे. वहां के वह चांसलर रह चुके हैं.

एनडीटीवी से बात करत हुए जब अमर्त्य सेन से प्रयागराज और अयोध्या के नाम बदले जाने को लेकर सवाल किया गया तो उन्होंने कहा कि मैं चाहूंगा कि नालंदा  विश्वविद्यालय का नाम बदल दिया जाए क्योंकि वहां अब पहले जैसा कुछ नहीं है.

वहीं आंध्र यूनिवर्सिटी के एक वीसी द्वारा कौरवों को टेस्ट ट्यूब बेबी बताने वाले बयान पर सेन ने कहा कि मेरे मुताबिक ये साइंस का नहीं बल्कि उनका खुद का विचार है. उन्होंने कहा कि, साइंस के नाम पर ये लोग कुछ और कर रहे हैं.

नसीरुद्दीन शाह पर क्या बोले अमर्त्य सेन

इससे पहले रविवार को अभिनेता नसीरुद्दीन शाह का समर्थन करते हुए अमर्त्य सेन ने कहा कि उन्हें ‘परेशान’ करने के प्रयास किए जा रहे हैं.

सेन ने कहा, ‘हमें अभिनेता को परेशान करने के इस तरह के प्रयासों के खिलाफ आवाज उठानी चाहिए. देश में जो कुछ हो रहा है, वह आपत्तिजनक है और इसे जरूर रोका जाना चाहिए.'

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi