S M L

7 महीने की बच्ची से रेप करने वाले दरिंदे को मिली फांसी की सजा, 70 दिनों में आया फैसला

विशेष न्यायाधीश जगेन्द्र अग्रवाल ने इस मामले में 12 पेशियां लगाते हुए 22 अदालती दिवसों में सुनवाई पूरी की.

Updated On: Jul 21, 2018 09:14 PM IST

Bhasha

0
7 महीने की बच्ची से रेप करने वाले दरिंदे को मिली फांसी की सजा, 70 दिनों में आया फैसला

राजस्थान में अलवर जिले के लक्ष्मणगढ़ क्षेत्र में सात माह की एक मासूम बच्ची का अपहरण कर रेप करने के मामले में पिंटू को फांसी की सजा सुनाई गई है. उसे पॉक्सो अधिनियम के तहत मात्र 70 दिन में दोषी करार दिया गया.

गौरतलब है कि पुलिस महानिदेशक ओ. पी. गल्होत्रा ने बताया था कि पॉक्सो अधिनियम के तहत दोषी करार देने की यह पहली कार्रवाई है. उन्होंने बताया कि 12 वर्ष से कम आयु की बच्चियों से दुष्कर्म के मामले में कठोर सजा देने के लिए 21 अप्रैल 2018 को यह दण्ड विधि संशोधन अस्तित्व में आया था.

विशेष न्यायाधीश (अनुसूचित जाति-अनुसूचित जनजाति अत्याचार निवारण प्रकरण) जगेन्द्र अग्रवाल ने इस मामले में 12 पेशियां लगाते हुए 22 अदालती दिवसों में सुनवाई पूरी की. अन्तिम बहस 17 जुलाई को हुई और 18 जुलाई को आरोपी को दोषी करार दे दिया गया.

गौरतलब है कि पीड़िता के पिता ने 9 मई 2018 को अपनी बच्ची से दुष्कर्म होने की सूचना दी थी. बच्ची के पिता ने बताया कि बच्ची अपनी दृष्टिबाधित दादी के पास सो रही थी. आरोपी पिंटू मासूम को खिलाने के बहाने उठाकर ले गया था. पुलिस ने आरोपी के विरूद्व भारतीय दंड संहिता की धारा 363,366ए, 376 आईपीसी 3/4 एवं पॉक्सो अधिनियम में मामला दर्ज कर कार्रवाई प्रारम्भ कर दी थी.

उन्होंने बताया कि नामजद आरोपी पिन्टू ने पूछताछ में अपना जुर्म कबूल कर लिया. पुलिस ने मात्र 27 दिन में जांच का काम पूरा करके न्यायालय में चालान पेश कर दिया था.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi