S M L

अल नीनो इंपैक्ट: इस साल सामान्य से कम रहेगा मॉनसून

पिछले कुछ साल के मुकाबले 2017 में दिल्ली में होगी कम बारिश

Updated On: Mar 27, 2017 05:07 PM IST

FP Staff

0
अल नीनो इंपैक्ट: इस साल सामान्य से कम रहेगा मॉनसून

यह साल किसानों पर बहुत भारी पड़ सकता है. मौसम विभाग के मुताबिक अल नीनो के कारण इस साल मॉनसून कमजोर रह सकता है.

साथ ही दिल्ली में बीते कुछ सालों की तुलना में इस साल सामान्य से कम बारिश की आशंका जताई जा रही है.

खेती पर होगा गहरा असर

स्काईमेट के मौसम वैज्ञानिक महेश पलावत ने बताया कि अभी के मौसम के मॉडल्स से मिली जानकारी के अनुसार इस साल अल नीनो के असर से अगस्त-सितंबर में नॉर्मल से कम बारिश होने की संभावना है.

मॉनसून पर मार्च महीने के अंत में और अप्रैल में और भी स्टीक जानकारी मिलने की उम्मीद है.

लेकिन अभी के मौसम के मॉडल्स के अनुसार मिली जुली संभावनओं का पता चला है, जिसमें जून-जुलाई के आस पास न्यूट्रल मॉनसून की उम्मीद है. यानी इन दोनों महीनों में नॉर्मल के पास मॉनसून के रहने का अनुमान लगाया गया है. ले

किन अगस्त-सितंबर में मॉनसून की बारिश नॉर्मल से कम रहने के संकेत मिले हैं.

हालात सुधरने के क्या हैं चांस?

महेश पलावत ने बताया कि इंडियन ओशन डाइपोल (IOD) पॉजिटिव रहता है तो बारिश सामान्य के आसपास हो सकती है.

यह अल नीनो के असर को कम करके मॉनसून को सक्रिय कर देता है. IOD में अरब सागर और हिंद महासागर की समुद्री सतह के बारे में जानकारी मिलती है.

जब अरब सागर और हिंद महासागर की समुद्री सतह का तापमान बढ़ जाता है. इसके बाद बादल बनते हैं और बारिश होने की संभावनाएं बढ़ जाती हैं.

यह मॉनसून को भी सक्रिय करते हैं. IOD से ही दक्षिण भारत की ओर मॉनसून बढ़ता है. अल नीनो से मॉनसून कमजोर हो जाता है लेकिन IOD इसके असर को कम कर देता है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Ganesh Chaturthi 2018: आपके कष्टों को मिटाने आ रहे हैं विघ्नहर्ता

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi