S M L

प्रदूषण बढ़ने पर चिल्लाते हैं, नहीं बढ़ा बजट में एक रुपया: SNDRP

बजट में पर्यावरण मंत्रालय के लिए वर्ष 2018-19 में 2,675.42 करोड़ रुपए आवंटित किए गए जो पिछली बार के जितना है

Updated On: Feb 04, 2018 01:48 PM IST

Bhasha

0
प्रदूषण बढ़ने पर चिल्लाते हैं, नहीं बढ़ा बजट में एक रुपया: SNDRP

जल क्षेत्र से संबंधित मुद्दों पर काम करने वाले एक नेटवर्क ‘एसएएनडीआरएपी’ ने कहा कि केंद्रीय बजट 2018-19 में पर्यावरण क्षेत्र के लिए कुछ नहीं है क्योंकि ‘न तो यह लोकप्रिय है और न ही इससे कारोबार करने में आसानी में मदद मिलती है.’साउथ एशिया नेटवर्क ऑन डैम्स, रिवर्स एंड पीपुल (एसएएनडीआरपी) ने कहा कि बजट में इस अहम क्षेत्र की उपेक्षा की गई.

बजट में पर्यावरण मंत्रालय के लिए वर्ष 2018-19 में 2,675.42 करोड़ रुपए आवंटित किए गए जो पिछली बार के जितना है. मंत्रालय को वर्ष 2017-18 के बजट में करीब 19 फीसदी की बढ़ोत्तरी मिली थी.

पीएम ने दाओस में की थी बड़ी बातें, नहीं दिया ध्यान

एसएएनडीआरपी के हिमांशु ठक्कर ने कहा कि इस बजट में पर्यावरण के लिए कुछ नहीं है. हाल ही में जारी हुए आर्थिक सर्वेक्षण में कहा गया था कि राष्ट्रीय राजधानी वायु प्रदूषण के लिहाज से दुनिया के सबसे ‘अस्वस्थ’ शहरों में से एक है.

ठक्कर ने कहा कि ऐसा सोचा गया था कि आने वाले चुनावों और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की हालिया दावोस यात्रा के चलते बजट में पर्यावरण और जलवायु परिवर्तन के संबंध में कुछ ठोस होगा. मोदी ने दावोस में कहा था कि जलवायु परिवर्तन भविष्य की सबसे बड़ी चुनौतियों में से एक है.

उन्होंने कहा ‘लेकिन बजट में पर्यावरण के लिए कुछ नहीं है. यहां तक कि जो वादे पहले किए गए थे उनको पूरा करने के लिए भी कुछ नहीं किया गया.’

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi