S M L

दिल्लीः डेढ़ महीने से एयर इंडिया की कर्मचारी लापता, 1 करोड़ की मांगी फिरौती

57 वर्षीय सुलक्षण नरुला बीते 30 सितंबर 2018 से अपने घर पंडारा रोड से लापता हो गई थीं, सुलक्षण के लापता होने के बाद से पुलिस उनका कोई सुराग नहीं ढूंढ पा रही थी

Updated On: Nov 17, 2018 12:42 PM IST

FP Staff

0
दिल्लीः डेढ़ महीने से एयर इंडिया की कर्मचारी लापता, 1 करोड़ की मांगी फिरौती

बीते डेढ़ महीने से लापता एयर इंडिया की महिला कर्मी के मामले में नया मोड़ आ गया है. महिला के परिवार को अब एक अनजान नंबर से 1 करोड़ की फिरौती के लिए फोन कॉल आया है. दरअसल 57 वर्षीय सुलक्षण नरुला बीते 30 सितंबर 2018 से अपने घर पंडारा रोड से लापता हो गई थीं. सुलक्षण के लापता होने के बाद से पुलिस उनका कोई सुराग नहीं ढूंढ पा रही थी.

1 करोड़ की फिरौती का पहला कॉल 11 नवंबर को आया था

महिला के परिवार को सुलक्षण की रिहाई के बदले 1 करोड़ की फिरौती का पहला कॉल 11 नवंबर 2018 को आया था. इस कॉल पर पंकज नाम के व्यक्ति ने फिरौती की मांग की. इसके बाद बीते शुक्रवार को फिर से फिरौती की मांग वाला कॉल आया. वहीं लापता महिला के परिवार ने बताया कि जब फिरौती मांगने वाले के निर्देश पर वह लोग हरिद्वार पहुंचे तो दिल्ली पुलिस न तो उनके साथ गई और न ही उसने इस मामले में उनकी कोई मदद की. एयर इंडिया की लापता महिला कर्मी के परिवार वालों ने दिल्ली पुलिस पर आरोप लगाया है कि वह उन लोगों की मदद सही से नहीं कर रहा है.

अपनी इस मांग के लिए हाई कोर्ट का दरवाजा खटखटाएंगे

लापता महिला का परिवार इस मामले में सीबीआई जांच की मांग कर रहा है. परिवार का कहना है कि वह अब अपनी इस मांग के लिए हाई कोर्ट का दरवाजा खटखटाएंगे. सुलक्षण के पति सुनील, जो पेशे से डॉक्टर हैं, उनका कहना है, 'हम चाहते हैं कि इस केस की छानबीन सीबीआई करे. लोकल पुलिस का रवैया इस मामले में बिल्कुल संवेदनहीन रहा है और इस केस की छानबीन कर रहे अधिकारी अक्सर कोर्ट में या अपनी ड्यूटी संबंधी दूसरे कामों में व्यस्त रहते हैं. इस चक्कर में कीमती समय बर्बाद हो रहा है.'

रात में 1 बजे से 1.30 बजे के बीच 3 कॉल और कई मैसेज मिले

सुनील ने बताया, 'जब हमें फिरौती की कॉल मिली, तो हमने तुरंत इस केस से जुड़े अधिकारी से संपर्क करने की कोशिश की लेकिन वह छुट्टी पर थे और उनका फोन स्विच ऑफ था. हम हरिद्वार चले गए और वहां जाकर हमने स्थानीय पुलिस की मदद ली. फिरौती मांगने वाला शख्स हमें लगातार कॉल कर रहा था लेकिन उसने अपनी लोकेशन का पता नहीं चलने दिया. शायद वह समझ गया होगा कि हमारे साथ पुलिस है. सुनील ने बताया, 'हमें उस नंबर से आज फिर रात में 1 बजे से 1.30 बजे के बीच 3 कॉल और कई मैसेज मिले.'

1 नवंबर को यह मोबाइल नंबर हरिद्वार में ट्रेस हुआ था

वहीं सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार जिस फोन नंबर से फिरौती की कॉल मिली है उसे सर्विलांस पर डाल दिया गया है. पहली बार 11 नवंबर को यह मोबाइल नंबर हरिद्वार में ट्रेस हुआ था लेकिन बाद में यह स्विच ऑफ आने लगा. यह नंबर सिमरन नाम की एक महिला के नाम पर है, जिसका कहना है कि यह नंबर उसका भाई गौरव इस्तेमाल कर रहा था और वह भी 8 नवंबर 2018 से लापता है. दूसरी तरफ गौरव की बहन सिमरन ने अपने भाई के लापता होने की शिकायत 12 नवंबर 2018 को को दर्ज कराई है.

सुलक्षण को जनवरी 2019 में रिटायर होना है

सिमरन ने बताया कि उसी नंबर से उनके पास भी एक कॉल आया था, जिसमें बताया गया था कि गौरव का एक्सिडेंट हो गया है और उसे जॉली ग्रांट हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया है. हालांकि जब परिवार ने पता किया, तो पता चला कि यहां किसी भी गौरव को भर्ती नहीं कराया गया है. सुलक्षण को जनवरी 2019 में रिटायर होना है. सुलक्षण के लापता होने के अगले ही दिन उनके परिवार द्वारा तिलक मार्ग पुलिस स्टेशन में उनके अपहरण की रिपोर्ट दर्ज कराई गई थी.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi