S M L

एम्स में सीनियर डॉक्टर ने जूनियर को मारा थप्पड़, हड़ताल पर गए रेजिडेंट डॉक्टर

सीनियर डॉक्टर पर रेजिडेंट डॉक्टर से मारपीट करने का आरोप, इमरजंसी और आईसीयू सेवा चालू लेकिन अन्य सेवाएं प्रभावित

Updated On: Apr 27, 2018 01:41 PM IST

FP Staff

0
एम्स में सीनियर डॉक्टर ने जूनियर को मारा थप्पड़, हड़ताल पर गए रेजिडेंट डॉक्टर

एम्स के रेजिडेंट्स डॉक्टर्स एसोसिएशन (आरडीए) ने अनिश्चितकालीन हड़ताल का ऐलान किया है. यहां के डॉक्टर एक फैकल्टी सदस्य को हटाने की मांग कर रहे हैं जिन पर एक रेजिडेंट डॉक्टर के साथ दुर्व्यहार करने का आरोप है.

एम्स के डॉक्टरों की अनिश्चितकालीन हड़ताल गुरुवार को शुरू हुई है. जिस सीनियर डॉक्टर पर आरोप लगा है उनका नाम डॉ. अतुल कुमार है जिन्होंने रेजिडेंट डॉक्टर के साथ मारपीट की. आरडीए ने आरोपी डॉक्टर को तत्काल प्रभाव से बर्खास्त करने की मांग की है.

डॉक्टरों ने सीनियर डॉक्टर को तत्काल निलंबित किए जाने की मांग की है. यह सीनियर डॉक्टर संस्थान में एक विभाग के विभागाध्यक्ष हैं. विरोध जताते हुए डॉक्टरों ने गुरुवार को हेलमेट पहन कर काम किया. वे यह भी मांग कर रहे हैं कि आरोपी डॉक्टर लिखित रूप से माफी मांगें.

रेजीडेंट डॉक्टर्स एसोसिएशन (आरडीए) ने एम्स के निदेशक रणदीप गुलेरिया को एक पत्र लिख कर आरोप लगाया है कि सीनियर डॉक्टर ने सीनियर रेजिडेंट को नर्सिंग स्टाफ, सहकर्मियों और अन्य लोगों के सामने थप्पड़ मारा. इसके बाद से रेजिडेंट डॉक्टर आहत है और अपने घर चला गया है.

इस हड़ताल का आह्वान रेजिडेंट डॉक्टर्स एसोसिएशन ने गुरुवार शाम को किया. इसके कारण एम्स में चिकित्सा सेवा प्रभावित हुई है. हड़ताल को देखते हुए अस्पताल ने आईसीयू और वार्डों सहित भर्ती मरीजों की देखभाल के लिए इमरजेंसी उपाय किए हैं. निदेशक ने आरडीए से मरीजों की देखभाल के लिए हड़ताल वापस लेने का आह्वान किया है.

आरडीए ने एएनआई से कहा, हमलोग सिर्फ इमरजेंसी और आईसीयू सेवा चालू रखे हुए हैं. हड़ताल तब तक जारी रहेगी जबतक फैकल्टी डॉक्टर को उनके पद से हटा न दिया जाए. मीडिया रिपोर्टों की मानें तो आरडीए ने डॉ. अतुल कुमार से एक लिखित माफीनामे की भी मांग की है.

आरडीए ने अपने बयान में कहा, घटना 25 अप्रैल की है जिसमें एक फैकल्टी सदस्य ने एक रेजिडेंट डॉक्टर को तमाचा जड़ दिया. हालांकि तुरंत बाद आरोपी डॉक्टर ने माफी मांग ली लेकिन लिखित माफीनामे की मांग को लेकर हड़ताल जारी है. इस कारण अस्पताल की चिकित्सा सेवाएं चरमरा गई हैं.

(इनपुट भाषा से)

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Ganesh Chaturthi 2018: आपके कष्टों को मिटाने आ रहे हैं विघ्नहर्ता

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi