S M L

अगस्ता वेस्टलैंड मामलाः भारत लाए गए राजीव सक्सेना और दीपक तलवार, सुबह 4 बजे से ED कर रही पूछताछ

दोनों को आज सुबह चार बजे ईडी के ऑफिस में लाया गया है, उन्हें आज दोपहर 2 बजे कोर्ट में भी पेश किया जाएगा

Updated On: Jan 31, 2019 11:06 AM IST

FP Staff

0
अगस्ता वेस्टलैंड मामलाः भारत लाए गए राजीव सक्सेना और दीपक तलवार, सुबह 4 बजे से ED कर रही पूछताछ

अगस्ता वेस्टलैंड हेलीकॉप्टर मामले में क्रिश्चन मिशेल को भारत लाने के बाद अब इस मामले के दो और आरोपियों को पकड़ने में कामयाबी हासिल हुई है. भारतीय एजेंसियों ने दुबई के अकाउंटेंट राजीव सक्सेना और दीपक तलवार को भारत प्रत्यर्पित करवाने में सफलता हासिल कर ली है. अधिकारियों ने बुधवार को जानकारी दी कि सक्सेना और तलवार को देर शाम दिल्ली लाया गया है. उन दोनों को दुबई के अधिकारियों ने बुधवार सुबह पकड़ा था. टाइम्स ऑफ इंडिया की खबर के अनुसार सक्सेना और तलवार दोनों को फिलहाल ईडी की कस्टडी में रखा गया है.

तलवार ने विमानन क्षेत्र में विवादास्पद सौदों में अहम रोल निभाया है

तलवार की वापसी महत्वपूर्ण है क्योंकि उन्होंने विमानन क्षेत्र में यूपीए के तहत विवादास्पद सौदों में अहम रोल निभाया है. उदाहरण के तौर पर विदेशी एयरलाइंस के लिए मंजूरी और इंदिरा गांधी अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे के पास एरोसिटी परियोजना का विकास. एयरपोर्ट पर ड्यूटी-फ्री दुकानों को मिले पुरस्कारों को भी सौदों के हिस्से के रूप में देखा गया था. वहीं दिल्ली के सबसे प्रमुख लॉबीस्ट में से एक, तलवार 1990 के दशक से बिजनेस के साथ जुड़े हैं. जब नरसिम्हा राव सरकार ने उदारीकरण की प्रक्रिया शुरू की थी तब वह विदेशी निवेश संवर्धन बोर्ड की मंजूरी के लिए आगे आए थे.

उन्हें आज दोपहर 2 बजे कोर्ट में भी पेश किया जाएगा

तलवार और सक्सेना को एआरसी से संबंधित दुबई के विशेष विमान से भारत भेजा गया है जो RAW की विमानन शाखा है. राजीव सक्सेना से धन शोधन के आरोपों में प्रवर्तन निदेशालय (ED) और सीबीआई दोनों लगातार पूछताछ कर रही है. दोनों को आज सुबह चार बजे ईडी के ऑफिस में लाया गया है. उन्हें आज दोपहर 2 बजे कोर्ट में भी पेश किया जाएगा. इससे पहले, पिछले साल दिसंबर महीने में यूएई सरकार ने 3600 करोड़ के वीवीआईपी हेलिकॉप्टर घोटाले के मामले में सह आरोपी ब्रिटिश नागरिक क्रिश्चन मिशेल को भारत प्रत्यर्पित किया था. वह फिलहाल न्यायिक हिरासत में है.

2017 में चेन्नई एयरपोर्ट से पत्नी शिवानी सक्सेना को गिरफ्तार किया था

ईडी ने दुबई में रहने वाले राजीव सक्सेना को इस मामले में कई बार तलब किया था और 2017 में चेन्नई हवाई अड्डे से उसकी पत्नी शिवानी सक्सेना को पूछताछ के लिए गिरफ्तार भी किया था. बाद में उन्हें जमानत मिल गई थी. ईडी का आरोप है कि सक्सेना, उसकी पत्नी और दुबई स्थित उसकी दो फर्मों ने धन शोधन किया है. अब सक्सेना और तलवार दोनों को पटियाला कोर्ट के सामने पेश किया जाएगा. प्रवर्तन निदेशालय के सूत्रों के अनुसार प्रवर्तन निदेशालय की दो अलग-अलग टीमें अलग-अलग स्थानों पर राजीव सक्सेना और दीपक तलवार से पूछताछ कर रही हैं.

6 अक्टूबर को सक्सेना के खिलाफ गैरजमानती वॉरंट जारी किया गया था

इससे पहले राजीव सक्सेना के वकील गीता लूथरा और प्रतीक यादव ने बताया था कि राजीव सक्सेना को UAE स्टेट सिक्योरिटी ने उनके घर से उठा लिया था और अवैध तरीके से भारत में प्रत्यर्पित कर दिया. बता दें कि ईडी ने इस मामले में दायर आरोपपत्र में राजीव सक्सेना को नामजद किया और उसके खिलाफ गैरजमानती वॉरंट जारी करवाया था. पिछले साल, 6 अक्टूबर को दिल्ली की एक अदालत ने सक्सेना के खिलाफ गैरजमानती वॉरंट जारी किया था.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi