S M L

स्टेशनों के बाद अब ट्रेनें भी करेंगी स्वच्छता की चुनौती का सामना

रेलवे की ओर से ट्रेनों पर किया जाने वाला यह अपनी तरह का पहला स्वच्छता सर्वेक्षण है

Updated On: May 27, 2018 03:58 PM IST

Bhasha

0
स्टेशनों के बाद अब ट्रेनें भी करेंगी स्वच्छता की चुनौती का सामना

रेलवे स्टेशनों के बाद अब भारतीय रेल की 200 से अधिक ट्रेनें ‘सबसे स्वच्छ ट्रेन’ का दर्जा पाने की होड़ में है. रेलवे की ओर से ट्रेनों पर किया जाने वाला यह अपनी तरह का पहला स्वच्छता सर्वेक्षण है.

वर्ष 2016 में रेलवे ने सरकार के ‘स्वच्छ भारत अभियान ’ के तहत देश के सभी स्टेशनों पर कुछ इसी तरह का सर्वेक्षण किया था.

इन 210 ट्रेनों के 475 रैक का परीक्षण होने वाला है. इनमें से 386 रैक का पहले ही सर्वेक्षण किया जा चुका है.

एक अधिकारी ने बताया कि यह सर्वेक्षण आईआरसीटीसी द्वारा नियुक्त किसी तीसरे पक्ष से कराया जा रहा है.

अधिकारी ने बताया, ‘महत्वपूर्ण ट्रेनों की स्वच्छता पर इस तरह का स्वतंत्र सर्वेक्षण हर साल कराया जाएगा और इससे उनमें गौरव का भाव और जोनल रेलवे के बीच प्रतिस्पर्धा और डिपो के रखरखाव का भाव उत्पन्न होगा. कुछ महीनों में ट्रेनों का सर्वेक्षण पूरा होने की उम्मीद है.’

सर्वेक्षण के तहत ट्रेनों के आकलन में बोर्ड की सुविधा, शौचालयों की स्थिति , यंत्र, उपकरण, मानवश्रम, गलियारे, दरवाजे, डस्टबिन (कचरा रखने का डब्बा), लिनेन, पेस्ट मैनेजमेंट, कचरा प्रबंधन की व्यवस्था, पानी की सुविधा, चलती ट्रेन में हाउसकिपिंग कर्मचारी जैसी सुविधाएं शामिल है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi