S M L

अब छत्तीसगढ़ में ऑक्सीजन सप्लाई रुकने से 3 बच्चों की मौत

ऑपरेटर रवि चंद्रा ड्यूटी के दौरान शराब पीकर सो गया था. इस वजह से अस्पताल के इमरजेंसी वॉर्ड में ऑक्सीजन की सप्लाई बंद हो गई

Updated On: Aug 21, 2017 02:13 PM IST

FP Staff

0
अब छत्तीसगढ़ में ऑक्सीजन सप्लाई रुकने से 3 बच्चों की मौत

छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर में अंबेडकर अस्पताल में ऑक्सीजन की सप्लाई रुकने से तीन बच्चों की मौत हो गई है. घटना रविवार रात की बताई जा रही है.

मिली जानकारी के मुताबिक ऑपरेटर रवि चंद्रा ड्यूटी के दौरान शराब पीकर सो गया था. इस वजह से अस्पताल के इमरजेंसी वॉर्ड में ऑक्सीजन की सप्लाई बंद हो गई. इस दौरान वेंटीलेटर पर रखे गए बच्चों में से तीन की ऑक्सीजन ना मिलने के कारण मौत हो गई.

अस्पताल में करीब आधे घंटे तक ऑक्सीजन सप्लाई बाधित रही. लगभग ऐसी ही स्थिति नर्सिंग वॉर्ड में भी पाई गई. देर रात तीन सीएमओ अस्पताल पहुंचे तो नर्सिंग वॉर्ड में ऑक्सीजन की सप्लाई बंद पाई गई. इस घटना के बाद अस्पताल में हंगामा मच गया जिसके बाद आनन फानन में ऑक्सीजन की आपूर्ति शुरू की गई. कहा जा रहा है कि यदि कुछ और वक्त के लिए ऑक्सीजन की सप्लाई बाधित रहती तो और बड़ा हादसा हो सकता था.

इस मामले में छत्तीसगढ़ के स्वास्थ्य आयुक्त आर प्रसन्ना ने यह स्वीकार किया कि अस्पताल के इमरजेंसी वॉर्ड में ऑक्सीजन का प्रेशर कम होने की वजह से यह घटना हुई. यह अस्पताल प्रबंधन की तरफ से बड़ी लापरवाही मानी जा रही है.

वहीं मुख्यमंत्री रमन सिंह ने जांच के आदेश दिए हैं. बता दें कि उत्तरप्रदेश के गोरखपुर के सरकारी अस्पताल में भी ऑक्सीजन सप्लाई बंद होने के चलते 30 से ज्यादा बच्चों की मौत हो गई थी.

लेकिन स्वास्थय विभाग के प्रमुख सचिव सुब्रत साहू ने इस मामले में कहा कि बच्चों की मौत ऑक्सीजन की कमी से नहीं हुई हैं. उन्होंने कहा कि तीनों बच्चों की हालत पहले से ही गंभीर थी. जिन्हें  वेंटिलेटर पर रखा गया था.

पोस्टमार्टम की रिपोर्ट आने से पहले ही सुब्रत साहू ने दावा किया कि वो इसका सुबूत पेश करेंगे कि बच्चों की मौत ऑक्सीजन की कमी से नहीं हुई.

सुब्रत साहू ने कहा, 'जिन बच्चों की मौत हुई है उनमें से एक बच्चा जुड़वां बच्चों में से एक था. उसका वजन कम था वहीं उसे इन्फैक्शन भी था. और दूसरे बच्चे का हार्ट कमजोर था. जोकि काफी टाइम से वेंटीलटर पर था. वहीं ऑक्सीजन की सप्लाई में कोई कमी या ब्लॉकेज नहीं थी. नवजातों के शव की पीएम रिपोर्ट सोमवार तक मिल जाएगी.'

सुब्रत साहू ने स्वीकार किया कि सप्लाई होने वाले ऑक्सीजन का प्रेशर जरूर कम हो गया था. लेकिन उसका बच्चों की मौत से कोई संबंध नहीं है.

आपरेटर रवि चंद्रा को निलंबित करने के पीछे उन्होंने बताया कि वह शराब के नशे में था. काम में लापरवाही की वजह से उसे निलंबित किया गया है. और इसी वजह से उसे पुलिस को सौंपा गया.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Ganesh Chaturthi 2018: आपके कष्टों को मिटाने आ रहे हैं विघ्नहर्ता

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi