S M L

नोटबंदी के बाद नए नोटों पर झपट रहे पुराने लुटेरे

नोटबंदी के बाद नए नोटों का काला कारोबार, रोज पकड़े जा रहे करोड़ों

Updated On: Dec 11, 2016 08:07 AM IST

Krishna Kant

0
नोटबंदी के बाद नए नोटों पर झपट रहे पुराने लुटेरे

नोटबंदी की कार्रवाई काला धन, आतंकवाद, नक्सलवाद, भ्रष्टाचार आदि से निपटने के लिए थी. सरकार के इस कदम से फायदा हुआ कि नहीं, इसका आकलन होना अभी बाकी है.

लेकिन लुटेरों और काले कारोबारियों ने नए नोटों का कारोबार शुरू कर दिया है. देश भर से पुलिस और आयकर विभाग की कार्रवाई में अब तक करोड़ों रुपये पकड़े जा चुके हैं. इंडियन एक्सप्रेस के मुताबिक सैकड़ों करोड़ की नये नोटों की इस लूट में बैंक के अधिकारी और कर्मचारी भी शामिल हैं.

नोटबंदी की घोषणा के बाद से देश में नोटों की किल्लत शुरू हो गई. पूरे देश में लोग नकदी के लिए जूझ रहे हैं. एक महीना बाद भी बैंक और एटीएम के बाहर लंबी कतारें लगी हैं. कई जगहों से बैंक या एटीएम लूट, मारपीट और अराजकता फैलने की भी खबरें आ रही हैं. नकदी संकट के चलते खुदरा व्यापारियों पर बुरा असर पड़ा है. लोग रात भर लाइन में लगकर पैसे निकालने की कोशिश कर रहे हैं.

ATM LINE

नोटबंदी के एक महीना बाद भी एटीएम और बैंकों में लाइन कम नहीं हो रही

शनिवार से सोमवार तक तीन दिन की छुट्टियों के चलते बैंक बंद हैं. इससे नोटों की किल्लत और बढ़ सकती है. भ्रष्टाचार को अंजाम देने वाले लोग नए नोट की लूट के लिए नए नियमों को भी धता बताने की जुगत लगा रहे हैं.

कई ऐसी खबरें आईं जहां नोटबंदी के बाद लाखों की राशि में नए या पुराने नोटों के रूप में करोड़ों रुपये बरामद किए गए.

नोटबंदी के बाद पकड़े गए करोड़ों के नये-पुराने नोट

असम के गुवाहाटी में नौ दिसंबर, शुक्रवार रात को 20 लाख रुपए मूल्य के नए नोटों के साथ तीन लोगों को गिरफ्तार किया गया. ये लोग कमीशन लेकर पुराने नोटों को नये नोटों से बदलने का धंधा कर रहे थे. समाचार एजेंसी आईएएनएस के मुताबिक, पुलिस का कहना है कि 2000 रुपए के नए नोटों में 20 लाख रुपये की राशि के साथ तीन लोग मौजूद थे. वह इस राशि के बदले एक दूसरे समूह से 26 लाख रुपये मूल्य के पुराने नोट लेने वाले थे.

प्रतीकात्मक फोटो (पीटीआई)

प्रतीकात्मक फोटो (पीटीआई)

तमिलनाडु में दस दिसंबर, शनिवार को एक कारोबारी की कार से आयकर विभाग ने 24 करोड़ रुपये के नए नोट बरामद किए. पकड़ गए सभी 2000 रुपये के नए नोट थे.

प्रदेश18 की खबर के मुताबिक, दस दिसंबर को कर्नाटक के हुबली और चित्रदुर्ग में छापेमारी कर के आयकर विभाग ने बाथरूम से छुपाकर रखे गए साढ़े छह करोड़ के नोट और 32 किलो सोना जब्त किया. इसमें 70 लाख के नए नोट हैं.

नौ दिसंबर को सूरत में एक होंडा कार में 2 हजार के नोटों के 76 लाख रुपये बरामद हुए. नौ दिसंबर को ही मुंबई के दादर में 85 लाख रुपये के साथ सात लोगों को पकड़ा गया. इसमें 72 लाख रुपये के नए नोट थे.

आठ और नौ दिसंबर को हरियाणा के गुरुग्राम में दो अलग-अलग मामलों में पांच लोगों को 27 लाख रुपये के नए नोटों के साथ पकड़ा गया.

तमिलनाडु से सबसे ज्यादा नकदी पकड़ी

आठ दिसंबर को चेन्नई में आयकर विभाग ने आठ जगहों पर छापेमारी की कार्रवाई की. इनमें 106 करोड़ रुपये की नकदी और 127 किलो सोना बरामद किया गया. जिनमें कुल 10 करोड़ रुपये के नए नोट शामिल थे. तमिलनाडु के आयकर अधिकारियों के हवाले से अमर उजाला लिखता है कि राज्य में जब्त किए गए नोटों और सोने को मिलाकर कुल काला धन 142 करोड़ की राशि का है. जबकि कुल जब्त की गई धनराशि 166 करोड़ रुपए की है.

इसे भी पढ़ें: नोटबंदी: कालेधन पर सेहरा पहनना है तो दाग धोने होंगे

सात दिसंबर को गोवा में पुलिस ने दो लोगों को गिरफ्तार किया. इनके पास से 70 लाख रुपये के नये नोट बरामद हुए. गोवा में अलग-अलग कार्रवाई में डेढ़ करोड़ के नए नोट जब्‍त किए गए.

छह दिसंबर को बंगाल के बीजेपी नेता मनीष शर्मा को 33 लाख रुपये, कुछ हथियार और छह कोयला माफिया के साथ स्पेशल टास्क फोर्स ने गिरफ्तार किया.

एक दिसंबर को तमिलनाडु पुलिस ने बीजेपी के यूथ विंग के नेता जेवीआर अरुण को 20.55 लाख रुपये के साथ गिरफ्तार किया था. इस रकम में ज्यादातर 2 हजार के नए नोट थे.

500-1000 notes

29 नवंबर को तमिलनाडु के कोयंबटूर में एक करोड़ के नये नोटों के साथ तीन लोग गिरफ्तार हुए. सात दिसंबर को कर्नाटक के उडुपी में एक कार से 71 लाख के नए बरामद हुए.

18 नवबंर को महाराष्ट्र के सहकारिता मंत्री सुभाष देशमुख के संगठन के वाहन से 91 लाख रुपये पकड़े गए. 20 नवंबर को गुजरात के साबरकांठा में आठ लाख के नए नोट पकड़े गए. 23 नवंबर को गुजरात के एक सेटेलाइट एरिया में 10.6 लाख के नए नोट बरामद हुए.

पटना में गार्ड की हत्या कर एटीएम से रुपये लूटे

बिहार की राजधानी पटना में शुक्रवार रात अपराधियों ने एटीएम में तैनात सुरक्षा गार्ड की हत्या कर दी. और नकदी लूटकर फरार हो गए. पुलिस के हवाले से आईएएनएस की खबर के अनुसार, कुछ अपराधियों ने मौर्या कॉम्पलेक्स स्थित सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया के एटीएम में तैनात गार्ड कुंदन की गला रेतकर हत्या कर दी. और एटीएम को तोड़कर रुपये लूटकर ले गए.

भ्रष्टाचार और नए पुराने नोटों के काले कारोबार में लिप्त ऐसे लोगों पर नकेल कसे बिना काला धन का कारोबार नहीं रोका जा सकता.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi