S M L

7 साल बाद 1000 बसों की खरीद को दिल्ली कैबिनेट की मंजूरी

ट्रांसपोर्ट डिपार्टमेंट ने चार क्लस्टर के कॉन्ट्रैक्ट को मंजूर करने के लिए कैबिनेट से गुहार लगाई थी, जिसके बाद कैबिनेट ने 1000 बसों के लिए मंजूरी दे दी

Updated On: May 19, 2018 03:56 PM IST

FP Staff

0
7 साल बाद 1000 बसों की खरीद को दिल्ली कैबिनेट की मंजूरी

दिल्ली को अंततः सात साल बसें खरीदने की मंजूरी मिल गई है. मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की अध्यक्षता में हुई कैबिनेट की बैठक में 1000 क्लस्टर बसों को लाने के लिए टेंडर के प्रस्ताव को अनुमति मिल गई है.

डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया ने कैबिनेट के फैसले के बारे में बताते हुए कहा कि बसों से संबंधित केस कोर्ट में चल रहे हैं और कोर्ट की मंजूरी के बाद क्लस्टर स्कीम के तहत नॉन एसी सीएनजी स्टैंडर्ड फ्लोर नई बसें सड़कों पर दौड़नी शुरू हो जाएंगी. दिल्ली में बसों की किल्लत से हर कोई वाकिफ है. सिसोदिया ने उम्मीद जताई की कोर्ट से भी जल्द ही इसके लिए मंजूरी मिल जाएगी.

ट्रांसपोर्ट डिपार्टमेंट ने चार क्लस्टर के कॉन्ट्रैक्ट को मंजूर करने के लिए कैबिनेट से गुहार लगाई थी, जिसके बाद कैबिनेट ने 1000 बसों के लिए मंजूरी दे दी.

टाइम्स ऑफ इंडिया की खबर के मुताबिक, ट्रांसपोर्ट मिनिस्टर कैलाश गहलोत ने बताया कि सात सालों से इसकी मंजूरी नहीं मिल रही थी क्योंकि नए डिपो के लिए जगह ही नहीं थी. अब इस समस्या का भी सामाधान हो गया है. पिछले 3 सालों में कई नए डिपो बन चुके हैं.

क्लल्टर बसों के अलावा डीटीसी के लिए 1000 बसें और 1000 इलेक्ट्रिक बसों को लाने के लिए भी सरकार तैयारी कर रही है. उन्होंन कहा कि दिल्ली में 11000 बसें चलाने का टारगेट है. फिलहाल दिल्ली में इस समय डीटीसी की 3781 और क्लस्टर स्कीम की 1648 बसें चल रही हैं. इस तरह से कुल 5429 बसें हैं.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi