S M L

भारत की विकास दर 7.4 फीसदी रहने का अनुमान : एडीबी

नोटबंदी की वजह से साल 2016-17 में भारत की आर्थिक वृद्धि दर घटकर 7.1 फीसदी हो गई थी

Updated On: Apr 06, 2017 11:39 PM IST

IANS

0
भारत की विकास दर 7.4 फीसदी रहने का अनुमान : एडीबी

एशियाई विकास बैंक (एडीबी) ने कहा कि नोटबंदी की वजह से साल 2016-17 में भारत की आर्थिक वृद्धि दर घटकर 7.1 फीसदी हो गई थी.

लेकिन गुड्स एंड सर्विसेज टैक्स (जीएसटी) और अन्य सुधारों के कारण बने व्यापारिक माहौल और निवेशकों के विश्वास के बढ़ते इस फाइनेंशियल ईयर में विकास दर बढ़कर 7.4 फीसदी हो सकती है.

एडीबी की रिपोर्ट के मुताबिक, ‘अस्थायी नकदी संकट के बाद एक बार फिर भारतीय अर्थव्यवस्था रफ्तार पकड़ेगी. नवंबर 2016 में 500 रुपए और 1,000 रुपए के नोटों को अवैध घोषित करने के फैसले से नकदी में कमी आ गई थी. जिसके कारण आर्थिक गतिविधियों में भी कमी आई थी.’

जीएसटी की वजह से बढ़ेगी जीडीपी

एडीबी के आर्थिक प्रकाशन डेवलपमेंट आउटलुक 2017 के मुताबिक, ‘सरकार द्वारा फॉरेन डायरेक्ट इन्वेस्टमेंट को और उदार बनाने और गुड्स एंड सर्विसेज टैक्स में सुधार की वजह से निवेशकों का विश्वास बढ़ना चाहिए और उससे बिजनेस इनवेस्टमेंट और आर्थिक वृद्धि भी बढ़नी चाहिए.’

रिपोर्ट के मुताबिक, ‘साल 2017 में आर्थिक वृद्धि दर 7.4 फीसदी, जबकि साल 2018 में 7.6 फीसदी रहने की उम्मीद है.’

इससे पहले केंद्रीय सांख्यिकी कार्यालय (सीएसओ) द्वारा जारी अनुमानित आंकड़ों के मुताबिक, साल 2016-17 के दौरान जीडीपी घटकर 7.1 फीसदी हो गई थी. जबकि साल 2015-16 में यह आंकड़ा 7.6 फीसदी था.

रिपोर्ट के मुताबिक  दक्षिण एशिया में वृद्धि दर 2017 में सात फीसदी और 2018 में 7.2 फीसदी रहने का अनुमान है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
#MeToo पर Neha Dhupia

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi