S M L

मौत के एक साल बाद, स्टांप पेपर घोटाले से बरी हुआ अब्दुल करीम तेलगी

तेलगी को नवंबर 2001 में अजमेर में गिरफ्तार किया गया था और उसे कई करोड़ रुपए के फर्जी कागजात के मामले में 30 साल के कठोर कारावास की सजा सुनाई गई थी

Updated On: Dec 31, 2018 03:57 PM IST

FP Staff

0
मौत के एक साल बाद, स्टांप पेपर घोटाले से बरी हुआ अब्दुल करीम तेलगी

सोमवार को नासिक की एक अदालत ने करोड़ों रुपए के घोटाले के दोषी अब्दुल करीम तेलगी को जाली स्टांप पेपर घोटाले के मामले में बरी कर दिया है. यह फैसला तेलगी की मौत के एक साल बाद आया है. मेनिनजाइटिस की गंभीर बीमारी से पीड़ित तेलगी की पिछले साल अक्टूबर महीने में मौत हो गई थी.

अब्दुल करीम तेलगी को नवंबर 2001 में अजमेर में गिरफ्तार किया गया था और वह 20 सालों से एड्स, डायबिटीज, हायपरटेंशन सहित कई अन्य बीमारियों से पीड़ित भी था. उसको घोटाले के आरोप में 30 सालों की सजा दी गई थी. तेलगी बैंगलोर के परप्पाना अग्रहारा सेंट्रल जेल में करोड़ों रुपए के फर्जी स्टांप पेपर घोटाले में 30 साल के कठोर कारावास की सजा काट रहा था.

30 सालों की कटोर कारावास की सजा के साथ अब्दुल करीम तेलगी पर 202 करोड़ रुपए का जुर्माना भी लगाया गया था. हालांकि तेलगी उस समय विवादों में घिर गया था, जब पूर्व डीआईजी (जेल) डी रूपा ने आरोप लगाया था कि अधिकारी उसे जेल में काफी सुविधाएं मुहैया करा रहे थे. तेलगी की अक्टूबर 2017 में बैंगलोर के एक अस्पताल में मौत हो गई थी.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi