S M L

Breaking News Live: केंद्र को ज्यादा अधिकार देने पर केजरीवाल ने सुप्रीम कोर्ट से पूछा, ये कैसा प्रजातंत्र है?

सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने बीजेपी पर निशाना साधते हुए कहा कि तीन सीट वाली पार्टी ट्रांसफर तय करेगी. अब क्या भ्रष्टाचार रोकने के लिए हम विपक्ष से बोले.

| February 14, 2019, 01:15 PM IST

FP Staff

0

हाइलाइट

Feb 14, 2019

  • 14:01(IST)

    पुडुचेरी के मुख्यमंत्री वी नारायणस्वामी उपराज्यपाल किरण बेदी के खिलाफ विरोध जताने के लिए धरने पर बैठ हैं. इस मामले पर किरण बेदी ने कहा, 'उन्होंने (सीएम) मुझे 7 फरवरी को चिट्ठी लिखी थी. इस चिट्ठी में 30 मामलों का जिक्र किया गया था. इनमें से कई मामले ऐसे थे जो या तो असल में थे ही नहीं या सुलझा लिए गए थे. मुझे वो चिट्ठी 8 फरवरी को मिली. कल वो धरने पर बैठ गए ये कहते हुए कु उन्हें जवाब चाहिए. लेकिन चिट्ठी में ऐसा कुछ नहीं लिखा था कि अगर 13 फरवरी तक जवाब नहीं मिला को मैं धरने पर बैठ जाऊंगा.'

  • 13:12(IST)

    कोर्ट का फैसला जनता और जनतंत्र के खिलाफ है. 67 सीटें जीतने वाली पार्टी को अधिकार नहीं है. हम कानूनी लड़ाई लड़ेंगे : केजरीवाल

  • 13:09(IST)

    दिल्ली सरकार बनाम उपराज्यपाल (LG)  मामले में सुप्रीम कोर्ट के फैसले पर आम आदमी पार्टी नेता संजय सिंह ने केंद्र सरकार के साथ-साथ सुप्रीम कोर्ट को भी निशाने पर लिया है. उन्होंने कहा, क्या मोदी जी की मर्जी के खिलाफ़ सुप्रीम कोर्ट निर्णय नही देता? राफेल में खुला भ्रष्टाचार हुआ केंद्र सरकार ने SC में झूठ बोला पर SC खामोश ? CBI पर SC ने निर्णय दिया या मजाक किया? दिल्ली की करोड़ों जनता की भावनाओं के साथ खिलवाड़ किया सुप्रीम कोर्ट है या नायब तहसीलदार कोर्ट?

  • 13:09(IST)

    केजरीवाल ने कहा, विवाद का समाधान अब जनता करेगी. दिल्ली के लोगों को उनका अधिकार मिलना चाहिए. दिल्ली को पूर्ण राज्य का दर्जा मिलना चाहिए. मैं दिल्ली के लोगों से अपील करना चाहता हूं कि आने वाले लोकसभा चुनाव में सातों सीटों पर आम आदमी पार्टी को जिताएं, ताकि हम दिल्ली को पूर्ण राज्य का दर्जा दिए जाने की मांग लोकसभा में उठा सकें.

  • 13:07(IST)

    सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने बीजेपी पर निशाना साधते हुए कहा कि तीन सीट वाली पार्टी ट्रांसफर तय करेगी. अब क्या भ्रष्टाचार रोकने के लिए हम विपक्ष से बोले.

  • 13:05(IST)

    सुप्रीम कोर्ट के फैसले पर केजरीवाल ने कहा कि जो सरकार इतने भारी बहुमत से चुनकर आती है अगर उसके पास काम करने की शक्तियां नहीं होगी, तो काम कैसे करेंगे.

  • 12:26(IST)

    राहुल ने कहा कि मेरे और पीएम मोदी में एक फर्क है कि मैं डरता नहीं हूं. लेकिन वो अपना डर दिखा नहीं सकते इसलिए वो नफरत दिखाते हैं. मैं सब को कहना चाहता हूं कि डरने की जरूरत नहीं है. जब मैं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के गले मिला तो मेरे दिल में उनके लिए नफरत नहीं थी. यह देश नफरत का देश नहीं, यह देश प्यार का देश है. मोदी ने मेरा, मेरे परिवार का और कांग्रेस पार्टी का अपमान किया लेकिन संसद में मैंने उन्हें गले लगाया. नफरत को केवल प्रेम से ही पराजित किया जा सकता है.

  • 11:59(IST)

    कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने अजमेर में कांग्रेस सेवादल के महाधिवेशन को संबोधित किया.

  • 09:21(IST)

    केजरीवाल ने मोदी की शैक्षिक योग्यता पर उठे सवालों के संदर्भ में कहा, 'पिछली बार आपने 12वीं पास व्यक्ति को देश का प्रधानमंत्री बनाया. इस बार ये गलती मत दोहराइएगा और किसी शिक्षित को ढूंढिए, क्योंकि 12वीं कक्षा पास व्यक्ति को यह समझ नहीं होती कि वह अपने हस्ताक्षर कहां कर रहा है.'

  • 09:19(IST)

    सुप्रीम कोर्ट दिल्ली सरकार बनाम उप राज्यपाल (LG) मामले में अधिकारों को लेकर आाज यानी 14 फरवरी को फैसला सुनाएगा. जस्टिस एके सीकरी और जस्टिस अशोक भूषण की बेंच फैसला सुनाएगी. दरअसल कुल दस याचिकाओं पर फैसला आएगा. डीएनए की रिपोर्ट के अनुसार सुप्रीम कोर्ट ये तय करेगा कि सेवाओं, ऑफिसरों के ट्रांसफर-पोस्टिंग और एंटी करप्शन ब्यूरो, जांच कमीशन के गठन पर किसका अधिकार है? बता दें कि 01 नवंबर 2018 को सुप्रीम कोर्ट ने दिल्ली सरकार (Arvind Kejriwal) और केंद्र की दलीलें सुनने के बाद फैसला सुरक्षित रख लिया था.

  • 09:19(IST)

    दिल्‍ली के नारायणा इलाके में एक पेपर कार्ड बनाने वाली फैक्‍ट्री में अचानक आग लग गई. फैक्‍ट्री की ऊपरी मंजिल से आग की लपटें निकलती देखाई दे रही हैं. आग पर काबू पाने के लिए मौके पर दमकल की 23 गाड़ियां भेजी गई हैं.

Breaking News Live: केंद्र को ज्यादा अधिकार देने पर केजरीवाल ने सुप्रीम कोर्ट से पूछा, ये कैसा प्रजातंत्र है?

अपडेट 1

सुप्रीम कोर्ट ने जांच के बाद दो असिस्टेंट रजिस्ट्रार्स को नौकरी से हटा दिया है. इन अधिकारियों पर रिलायंस कम्युनिकेशन के चेयरपर्सन अनिल अंबानी के कोर्ट की अवमानना केस में उनकी मदद करने का आरोप है.

आम चुनावों से पहले विपक्षी दलों ने न्‍यूनतम साझा कार्यक्रम के तहत गठबंधन करने का ऐलान किया है. इस गठबंधन में कांग्रेस, तृणमूल कांग्रेस(टीएमसी), राष्‍ट्रवादी कांग्रेस पार्टी(एनसीपी), तेलुगु देशम पार्टी(तेदेपा) और आम आदमी पार्टी(आप) शामिल होगी. एनसीपी नेता शरद पवार के घर पर बैठक के बाद राहुल गांधी, अरविंद केजरीवाल, चंद्रबाबू नायडू और ममता बनर्जी ने सामूहिक रूप से प्रेस कांफ्रेंस कर इसका ऐलान किया.

0

अन्य बड़ी खबरें

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi